1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

इंग्लैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप की आजमाइश

एशेज में करारी मात खाने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम ने वनडे सीरीज के लिए अपने तेज गेंदबाज ब्रेट ली और बल्लेबाजी डेविड हसी को वापस बुलाया है. इंग्लैंड से टेस्ट की हार का बदला लेने के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार हैं कंगारू.

default

ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे मैच के लिए टीम का एलान कर दिया है. कुल सात मैचों की सीरीज का पहला मैच रविवार को मेलबर्न में खेला जाएगा. यह वनडे मैच टीम के चुनाव के लिहाज से अहम है क्योंकि दक्षिण एशिया में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप के लिए ऑस्ट्रेलिया को 19 जनवरी को अपनी 15 सदस्यों की टीम का एलान करना है. इसलिए रविवार को वह अपने सबसे अच्छे पत्ते आजमा लेना चाहेगा.

मुख्य चयनकर्ता एंड्रयू हिल्डिच ने भी इस बात की पुष्टि की है. उन्होंने कहा, "पहले वनडे के लिए 14 खिलाड़ियों का चुनाव इस हिसाब से किया गया है कि चयनकर्ता कुछ खिलाड़ियों को आजमा सकें. इसके बाद हम 19 जनवरी को वर्ल्ड कप के लिए टीम का चुनाव करेंगे."

Cricket - 2010 Ashes Series

रविवार के मैच के लिए टीम की कप्तानी माइकल क्लार्क के हाथों में होगी. हिल्डिच ने कहा कि रिकी पोंटिंग एशेज के दौरान उंगली में लगी चोट से उबरे नहीं हैं इसलिए क्लार्क को कप्तानी का एक और मौका दिया जा रहा है. हालांकि उम्मीद की जा रही है कि पोंटिंग 19 फरवरी से शुरू होने वाले वर्ल्ड कप से पहले फिट हो जाएंगे.

पहले वनडे मैच के लिए 34 साल के ब्रेट ली को टीम में वापस बुलाया गया है. हालांकि उन्हें अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेले एक अरसा हो गया है. वह पिछली बार अक्तूबर 2009 में भारत के खिलाफ खेले थे. उसके बाद से वह लगातार चोटों से जूझते रहे और इतने परेशान हो गए कि पिछले साल फरवरी में टेस्ट मैच से संन्यास ही ले लिया. लेकिन अब हिल्डिच को उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलिया का बोलिंग अटैक बहुत अच्छा हो गया है.

उन्होंने कहा, "अब हमारे पास शॉन टेट, ब्रेट ली, मिचेल जॉनसन, डग बोलिंगर और पीटर सिडल के रूप में विस्फोटक तेज गेंदबाजी है." हिल्डिच ने कहा कि टेट और ली के पास चयनकर्ताओं को प्रभावित करने का यह बढ़िया मौका है.

टीम में स्टीव स्मिथ, जेवियर डोहेर्टी और नाथन हॉरित्ज को भी शामिल किया गया है जिससे स्पिन गेंदबाजी भी मजबूत हो सके. चयनकर्ता स्पिन गेंदबाजी पर विशेष ध्यान दे रहे हैं क्योंकि जिन पिचों पर वर्ल्ड कप होना है, वे स्पिन गेंदबाजी के अनुकूल मानी जाती हैं.

टीम इस प्रकार है:
माइकल क्लार्क (कप्तान), कैमरन व्हाइट, डग बोलिंगर, जेवियर डोहेर्टी, ब्रैड हैडिन, नाथन हॉरित्ज, डेविड हसी, माइक हसी, मिचेल जॉनसन, ब्रेट ली, पीटर सिडल, स्टीव स्मिथ, शॉन टेट, शेन वॉटसन.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एस गौड़

DW.COM