1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

इंग्लैंड की गेंद से पाकिस्तान का फायदा

इंग्लैंड में टेस्ट मैचों के लिए जो गेंद इस्तेमाल की जाती है, वह पाकिस्तान के गेंदबाजों के लिए खासी फायदेमंद साबित होगी. पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर मानते हैं कि इस बॉल की वजह से उनके गेंदबाजों का पलड़ा भारी रहेगा.

default

पाकिस्तान इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज की तैयारी कर रहा है. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मोईन खान ने बताया कि अंग्रेज बल्लेबाजों को पाकिस्तानी गेंदबाजों के सामने कड़े इम्तेहान से गुजरना होगा. उन्होंने कहा, “इंग्लैंड में जो ड्यूक बॉल इस्तेमाल की जाती है, वह हमारे गेंदबाजों के लिए काफी फायदेमंद साबित होगी.”

सलमान बट की कप्तानी में पाकिस्तानी टीम ने पिछले हफ्ते ऑस्ट्रेलिया पर बड़ी जीत दर्ज की. उसके गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में सिर्फ 88 रनों पर ढेर कर दिया था. खास तौर पर मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमेर जबरदस्त फॉर्म में हैं. पिछले साल नवंबर से अब तक दोनों ने सात टेस्ट मैचों में 61 विकेट लिए हैं.

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज सरफराज नवाज कहते हैं, “मौसम की वजह इंग्लैंड की पिचें नर्म हैं और उनमें नमी रहती है. ड्यूक बॉल की सीम उभरी होती है और उसका लेदर सख्त होता है. इसलिए हमारे गेंदबाज उसे आसानी से स्विंग करा सकते हैं.” नवाज कहते हैं कि पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट में भी इसी तरह की गेंदे इस्तेमाल की जाती हैं, इसलिए भी गेंदबाज इस गेंद के साथ ज्यादा सहज रहते हैं.

अब इंग्लैंड में बस चुके पूर्व पाकिस्तानी स्पिनर सकलैन मुश्ताक भी मानते हैं कि पाकिस्तानी गेंदबाज इंग्लैंड में गेंदबाजी को काफी एंजॉय करते हैं. वह बताते हैं, “मुझे याद है कि वसीम अकरम और वकार यूनुस को तो यहां खेल पाना भी मुश्किल हो जाता था.”

फिलहाल हर सीरीज में मेजबान देश अपनी परिस्थितियों के हिसाब से ही गेंद चुनता है. हालांकि पूर्व पाकिस्तानी कप्तान अब्दुल कादिर का मानना है कि आईसीसी को दुनिया भर में एक जैसी गेंद इस्तेमाल करने पर विचार करना चाहिए.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ओ सिंह