1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आसिफ ने वॉटसन पर रंगभेदी टिप्पणी की!

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ पर ऑस्ट्रेलियाई दौरे के दौरान नस्लभेदी टिप्पणी करने का आरोप है. पाक टीम के मैनेजर अब्दुल रकीब के मुताबिक आसिफ ने ऑलराउंडर शेन वॉटसन को "ब्लडी व्हाइट" कहा.

default

जांच पैनल को अब्दुल रकीब ने बताया कि ऑस्ट्रेलियाई टूर के दौरान आसिफ एक बड़े विवाद में फंसते फंसते बचे. रकीब का कहना है कि आसिफ ने शेन वॉटसन को ''ब्लडी व्हाइट'' कह कर बुलाया था. "टेस्ट मैच के दौरान आसिफ ने वॉटसन को ये शब्द कहे." जांच कमेटी की सुनवाई का वीडियो लीक हुआ है जिसमें रकीब को यह आरोप लगाते सुना गया है.

रकीब ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया के मैनेजर स्टीव बर्नार्ड ने उनसे संपर्क साधा और कहा कि कप्तान रिकी पोंटिंग एक प्रेस कांफ्रेस बुलाना चाहते हैं. यह जानने के बाद रकीब ने याद दिलाया कि आईसीसी नियमों के अनुसार ऐसी घटनाओं पर सार्वजनिक रूप से चर्चा नहीं हो सकती. रकीब का कहना है कि उन्होंने इस मामले को छुपाए रखा क्योंकि इससे मोहम्मद आसिफ और पाकिस्तान क्रिकेट के सामने और मुश्किलें खड़ी होती.

Australien Cricket Meisterschaft Neuseeland

"आप मुझे बताएं कि यह किस तरीके की टिप्पणी है. यह तो अच्छा हुआ कि स्टीव बर्नार्ड ने मुझे सहयोग दिया. मैंने उन्हें बताया कि सीरीज बड़े अच्छे ढंग से खेली जा रही है और जहां तक स्लेजिंग (अपशब्द) की बात है तो यह दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने किया है." रकीब के मुताबिक यह मामला तब ठंडा हुआ जब मोहम्मद आसिफ शेन वॉटसन से हाथ मिलाने के लिए तैयार हो गए. यह सीरिज पाकिस्तान के लिए शर्मनाक साबित हुई थी क्योंकि वनडे, टेस्ट और ट्वेंटी20 सीरिज में पाक एक भी मैच नहीं जीत पाया था.

रकीब ने जांच समिति को बताया कि उन्हें लगता है कि पाकिस्तान खिलाड़ियों में शिक्षा और व्यवहारिकता की कमी है. रकीब पाकिस्तान की अंडर-19 टीम के भी मैनेजर रह चुके हैं. "अंडर-19 टीम में ऐसे भी खिलाड़ी थे जो विमान यात्रा के दौरान शराब मांग रहे थे." माना जा रहा है कि रकीब ने सुनवाई के दौरान सलाह दी है कि खराब प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को दंडित किया जाना चाहिए. रकीब के अनुसार अगर मोहम्मद आमेर को विकेट लेने के लिए एक लाख रुपये मिल सकते हैं तो फिर कैच छोड़ने के लिए उन्हें सजा भी मिलनी चाहिए.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ओ सिंह

संबंधित सामग्री