1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

आसान होगा शेंगेन वीज़ा पाना

शेंगेन संधि के 25 सदस्य देश भविष्य में वीज़ा देने में तेज़ी लाएंगे. सोमवार से यूरोप से बाहर से आने वाले पर्यटकों, छात्रों और प्रोफ़ेशनल्स के लिए नए नियम लागू किए जा रहे हैं.

default

हर साल लगभग एक करोड़ लोग शेंगेन वीज़ा क्षेत्र वाले यूरोपीय देशों में आने के लिए शेंगेन वीज़ा लेते हैं. सोमवार से लागू हो रहे ईयू-वीज़ा कोडेक्स के ज़रिए तीन महीने तक का वीज़ा पाना आसान हो जाएगा. कोडेक्स में यह तय किया गया है कि शेंगेन में शामिल यूरोपीय संघ के 22 देश और नॉर्वे, आइसलैंड और स्विट्रज़रलैंड वीज़ा आवेदन का निबटारा कैसे करेंगे.

शेंगेन वीज़ा हासिल करने वाले लोग 25 देशों में बेरोकटोक यात्रा कर सकते हैं. इसके लिए उन्हें उस देश के दूतावास में आवेदन देना होता है, जहां वे सबसे पहले पहुंचते हैं. इन देशों ने वीज़ा देने के अपने अपने नियम बना रखे हैं. सोमवार से वीज़ा देने का साझा नियम लागू हो रहा है.

यूरोपीय संघ के कानूनी मामलों की कमिश्नर सेसेलिया माल्मस्ट्रोएम कहती हैं, "नए वीज़ाकोडेक्स का लक्ष्य है, सभी शेंगेन देशों में लागू होने वाले नियमों का समन्वय और वीज़ा के लिए आवेदन करने वाले लाखों लोगों के लिए उन्हें आसान बनाना."

वीज़ा आवेदन को तो आसान बनाया ही जा रहा है, वीज़ा फीस को भी कम किया जा रहा है. आम लोगों के लिए वीज़ा फीस भविष्य में 60 यूरो ही रहेगी, लेकिन 6 से 12 साल के बच्चों को सिर्फ़ 35 यूरो देना होगा. इसके अलावा कुछ श्रेणी के आवेदकों के लिए अपवाद भी होंगे.

यूरोपीय संघ में वीज़ा मामलों को देखने वाले अधिकारी यान दे क्यूटर मानते हैं कि अतीत में वीज़ा की प्रक्रिया ग्राहक फ़्रेंडली नहीं थी. कभी कभी तो लोगों को आवेदन देने के लिए दो महीने तक इंतज़ार करना पड़ता था. भविष्य में आवेदक को 15 दिन के अंदर आवेदन देने का अप्वाइंटमेंट दे दिया जाएगा. उसके दो सप्ताह के अंदर उसे वीज़ा दे दिया जाएगा. यदि आवेदन ठुकराया जाता है तो उसका कारण बताया जाएगा. अप्रैल 2011 से सभी शेंगेन देशों में वीज़ा देने से इंकार किए जाने के ख़िलाफ़ अपील किया जा सकेगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ए कुमार

संबंधित सामग्री