1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आसमान में दिखी वो उत्तर कोरियाई मिसाइल थी!

बीते हफ्ते उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल को आसमान में कई एयरलाइनों के क्रू सदस्यों ने देखा. इस घटना ने नागरिक उड़ानों पर उत्तर कोरिया के अघोषित मिसाइल परीक्षणों से खतरे की आशंका पैदा कर दी है.

उत्तर कोरिया ने इस साल अंतरराष्ट्रीय विरोध को दरकिनार कर कई मिसाइलों का परीक्षण किया. अंतरराष्ट्रीय उड्डयन प्रशासन से जुड़े अधिकारी भी इन परीक्षणों को लेकर आशंका जता रहे हैं. बीते हफ्ते उत्तर कोरिया ने एक अंतरमहद्वीपीय मिसाइल यानी आईसीबीएम का परीक्षण किया था. यह आईसीबीएम अपने परीक्षण स्थल से करीब 950 किलोमीटर दूर जा कर गिरने से पहले 4,475 किलोमीटर की ऊंचाई पर थी. कोरियाई एयरलाइंस के प्रवक्ता ने बताया है, "कोरियन एयर का विमान सैन फ्रांसिस्को से इचियोन जा रहा था तभी उसने जापानी वायु यातायात नियंत्रकों को बताया कि चालक दल के सदस्य ने एक रोशनी पुंज देखा है जो माना जा रहा है कि उत्तर कोरियाई मिसाइल थी." चार मिनट बाद ही कोरियन एयर के एक दूसरे जहाज ने जो लॉस एंजेलिस से इचियोन जा रहा था उसने भी जापानी नियंत्रकों से यही कहानी दोहराई.

दक्षिण कोरिया के परिवहन मंत्रालय के एक अधिकारी का कहना है दोनों विमानों की उड़ान का रास्ता एक ही था और जो मिसाइल के गिरने की जगह से महज 220 किलोमीटर दूर था. इस अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएफपी से कहा, "साफ गहरे आसमान में आप मिसाइल से निकलने वाले प्रकाश को दूर से ही देख सकते हैं."

जापान के परिवहन मंत्रालय का भी कहना है की उसके एयर ट्रैफिक कंट्रोल के अधिकारियों को ऐसी कोई चीजे देखे जाने की खबर मिली थी. जापान की एक एयरलाइन के प्रवक्ता ने भी बताया कि टोक्यो से लंदन जा रहे एक विमान के कॉकपिट क्रू ने जापान के सागर पर "एक चमकीली लपट को नीचे गिरते देखा." दक्षिण कोरिया और जापान के एयरलाइनों की रिपोर्ट से पहले हांग कांग की एयरलाइन कैथे पैसिफिक ने सोमवार को कहा कि सैन फ्रांसिस्को से हांग कांग जा रहे विमान के क्रू सदस्य ने धमाके के साथ किसी चीज को फटते देखा. माना जा रहा है कि इस सदस्य ने मिसाइल को तब देखा जब वह वायुमंडल में वापसी कर रही थी. कैथे पैसिफिक एयरलाइंस का कहना है कि उस वक्त यात्रा मार्ग को बदलने की कोई योजना नहीं थी. एयरलाइन ने यह भी कहा है कि वह घटनास्थल से काफी दूर था.

रूस 'नहीं चाहता', भरभरा कर गिर जाये उत्तर कोरिया

उत्तर कोरिया ने फिर दागी बैलेस्टिक मिसाइल, दुनिया में खलबली

यूनियन ऑफ कंसर्न्ड साइंटिस्ट एक वरिष्ठ वैज्ञानिक डेविड सी राइट ने मंगलवार को एक रिपोर्ट में लिखा कि कैथे क्रू ने शायद मिसाइल के पहले चरण के अलग हो कर वापस धरती पर गिरने की घटना देखी होगी. उन्होंने लिखा है, "रॉकेट के दूसरे चरण के इंजन के का चालू होना और पहले चरण से अलग होना एक धमाके की तरह दिखता है जिसमें मिसाइल दो हिस्सों में बंट जाती है." राइट ने कोरियाई क्रू सदस्यों को दिखी "चमक" के बारे में भी लिखा है कि लॉन्च के करीब एक घंटे बाद मिसाइल दोबारा वायुमंडल में घुसने के लिए गर्म हो रही होगी.

संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन ने इसी साल अक्टूबर में उत्तर कोरिया के अघोषित परीक्षणों की निंदा की थी. संगठन ने अनुरोध किया था कि उसे अंतरराष्ट्रीय उड्डयन मानकों का पालन करना चाहए ताकि जोखिम से बचा जा सके. उत्तर कोरिया ने 2014 में मिसाइल परीक्षणों की जानकारी देनी बंद कर दी.

एनआर/ओएसजे (एएफपी)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री