1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

आल इज नॉट वेलः आमिर खान

रैंचो जब अपने सपनों के स्कूल पहुंचा, तो वहां की बदहाली देख कर भावुक हो गया. फुनसुक वांगडू के तौर पर इसी स्कूल में तो रैंचो ने अलग दुनिया बसाई थी. लेकिन टूटे स्कूल को देख कर रैंचो कह उठा, "आल इज नॉट वेल."

default

फिल्म वाले स्कूल पहुंचे आमिर

शिक्षा व्यवस्था पर तमाचा मारती फिल्म थ्री इडियट्स के हीरो आमिर खान का जुमला था, आल इज वेल. बड़ी बड़ी परेशानियों को आल इज वेल बोल कर झेल जाने वाले आमिर खान ने जब लेह स्कूल में तबाही की सच्चाई देखी, तो शायद उनकी भी हिम्मत वह जुमला निकालने की नहीं हुई. उन्होंने बस इतना कहा कि आल इज नॉट वेल, सब कुछ ठीक नहीं है.

थ्री इडियट्स में आमिर खान ने रैंचो की भूमिका निभाई है, जो फिल्म खत्म होते होते फुनसुक वांगडू के तौर पर लेह के स्कूल में बच्चों को नए नए प्रयोग कराता है. इस हिस्से की शूटिंग लेह के ड्रुक व्हाइट लोटस स्कूल में हुई, जो बादल फटने की वजह से बुरी तरह तबाह हो गया. आमिर खान पहला मौका मिलते ही खास तौर पर स्कूल देखने पहुंचे. उनका कहना है कि लेह मनाली राजमार्ग से करीब 15 किलोमीटर दूर बने इस स्कूल से उन्हें गहरा लगाव हो गया है.

Aamir Khan Bollywood Akteur

3इडियट्स ने खूब नाम कमाया

इसके बाद थोड़ा भावुक हो उठे आमिर खान से जब पूछा गया कि क्या वह अब भी वही डायलॉग बोलेंगे कि आल इज वेल, तो 45 साल के आमिर ने कहा, "आल इज नॉट वेल. लेकिन इंसानियत के नाते हमें एक दूसरे की मदद करनी चाहिए. हमें दूसरों का हौसला बढ़ाना चाहिए."

इसके बाद आमिर खान ने सुपरहिट फिल्म थ्री इडियट्स के गाने की चार लाइनें सुनाईं, जिसमें कठिन से कठिन दौर में हौसला रखने की बात का जिक्र है. स्कूल में करीब 800 बच्चे पढ़ते हैं. फिल्म में आमिर खान ने एक बेहतरीन इंजीनियरिंग छात्र की भूमिका निभाई है, जो पढ़ाई पूरी करने के बाद इस स्कूल के बच्चों के लिए लेह पहुंच जाता है.

आमिर ने कहा, "दरअसल यह स्कूल रैंचो का नहीं था. यह तो फुनसुक वांगडू का था. मैंने फिल्म में उसी का तो रोल निभाया है." उन्होंने स्कूल के बच्चों से मुलाकात की और लोगों से अपील की कि वे प्रधानमंत्री राहत कोष में दिल खोल कर दान करें.

उन्होंने कहा, "मुझे बहुत दुख हो रहा है. मैं सोचता हूं कि काश मैं अच्छे दिनों में यहां आता. देश का एक हिस्सा मुसीबत में है और हमारा कर्तव्य है कि हम उनकी मदद करें." बादल फटने की घटना में 200 लोग बह गए लेकिन ड्रुक स्कूल का कोई भी छात्र इसमें घायल नहीं हुआ.

आमिर ने थोड़ा वक्त यहां शोएब अहमद के साथ भी बिताया, जिसने थ्री इडियट्स फिल्म में आमिर के बचपन का रोल किया है. शोएब से जब पूछा गया कि क्या वह बड़ा होकर आमिर जैसा अदाकार बनना चाहता है, तो उसने कहा, "नहीं, मैं तो वैज्ञानिक बनना चाहता हूं."

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः ओ सिंह