1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

आलू पर जज्बाती बेल्जियम

फ्रेंच में पोम फ्रीत, इंग्लैंड में चिप्स और दुनिया भर में फ्रेंच फ्राइस के नाम से जाने जाने वाले आलू के लंबे टुकड़ों को तल कर बनाईं जाने वाली फ्राइस बेल्जियम की शान है.

अब बेल्जियम के फ्राइस विक्रेता इसे विश्व धरोहर का हिस्सा बनाना चाहते हैं. आलैं मेर्सेमान एक नीले कांटे से फ्राइस के टुकड़ों को निकाल रहे हैं. आलू के टुकड़े लंबे हैं, इन्हें तेल या मक्खन में तला गया है और इनका रंग सुनहरा है. कोनों में थोड़ा भूरा. आलैं के लिए यह दुनिया के सबसे अच्छे फ्राइस हैं. बेल्जियम चॉकलेट और बीयर के लिए तो जाना ही जाता है. लेकिन यहां के निवासी आलू के फ्राइस को अपने इतिहास का हिस्सा मानते हैं. बेल्जियम में फ्राइस निर्माता संघ नाफेवरी उनाफरी के प्रमुख बेर्नार लेफेव्र कहते हैं, "एक सर्वे के मुताबिक बेल्जियम के 96 प्रतिशत लोग साल में कम से कम एक बार फ्राइस खाने जाते हैं और 46 प्रतिशत हफ्ते में एक बार जाते हैं."

खाना नहीं फ्राइस खाओ

ज्यादातर देशों में फ्राइस को किसी खाने के साथ खाया जाता है लेकिन बेल्जियम में यह खाने का मुख्य हिस्सा होता है. यानी एक प्लेट फ्राइस आपका लंच या डिनर हो सकते हैं. साथ मिलता है सॉस और बेल्जियम में ऐसा कोई बाजार नहीं जहां फ्रेंच फ्राइस की दुकान न हो. ब्रसेल्स में मेसों आंत्वान काफी विख्यात है. दुकान को देखकर ऐसा लगता है जैसे इसने कभी अच्छे दिन देखे होंगे, लेकिन वास्तव में इसके अच्छे दिन अब भी चल रहे हैं. 1948 से यह दुकान आलू के टुकड़े तल तल कर बेच रही है. हर रोज, हफ्ते में सातों दिन.

डोमिनीक बोनिये अपनी करछी से कढ़ाई में आलू तल रहे हैं. तेल गर्म है और भाप सीधा उनके चेहरे पर आ रही है. "बेल्जियम के फ्राइस दो बार तले जाते हैं." पहली बार 10 मिनट के लिए 30 डिग्री तापमान पर और दूसरी बार 150 डिग्री के तापमान पर बस थोड़ी देर के लिए. फिर ये बाहर से करारे हो जाते हैं. वह पिछले 14 सालों से मेसों नाम की दुकान में काम कर रहे हैं. हर रोज 300 किलो आलू के फ्राइस बिकते हैं. यहां केचप और मेयोनेस के अलावा 2 अलग अलग तरह के सॉस मिलते हैं. बोनिये कहते हैं कि यह एक वक्त का खाना है, कोई स्नैक नहीं. उनकी दुकान के सामने पर्यटकों की लंबी लाइन लग जाती है.

फ्रेंच या बेल्जियन?

फ्राइस किसने इजाद किया, यह आज भी विवाद का विषय है. फ्रेंच कहते हैं कि फ्राइस उन्होंने सबसे पहले बनाईं लेकिन बोनिये का मानना है कि फ्राइस बेल्जियम का है. फ्रांस में संग्रहालयों की संस्कृति का मजाक उड़ा रहे बेल्जियम फ्राइस संघ के प्रमुख लेफेव्र कहते हैं, "अगर फ्राइस फ्रेंच होते तो पेरिस में कब से एक फ्राइस म्यूजियम होगा."

बेल्जियम फ्राइस के दीवाने आलैं मानते हैं कि बेल्जियम के फ्राइस दुनिया में सबसे अच्छे हैं. उन्हें जरूर विश्व धरोहर घोषित किया जाना चाहिए. उनकी पत्नी बेल्जियम के वालूनी समुदाय की हैं जो फ्रेंच बोलता है. आलैं हंसते हुए कहते हैं, "जब बेल्जियम वाले फ्राइस खाते हैं तो वह राजनीति के बारे में बात नहीं करते."

एमजी/ओएसजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री