1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आर्मस्ट्रॉन्ग ने डोपिंग का गुनाह कबूला

कई साल से लगातार झूठ बोल रहे लांस आर्मस्ट्रॉन्ग ने आखिरकार गुनाह स्वीकार कर लिया है. ओपरा विन्फ्री के शो में आर्मस्ट्रॉन्ग ने माना कि उन्होंने डोपिंग की और प्रदर्शन बढ़ाने वाली दवाएं लीं. आर्मस्ट्रॉन्ग ने माफी भी मांगी.

अमेरिकी अखबार यूएसए टुडे के मुताबिक सोमवार को ओपरा विन्फ्री का शो रिकॉर्ड हुआ. लंबी बाततीच में 41 साल के आर्मस्ट्रॉन्ग ने पहली बार स्वीकार किया कि उन्होंने प्रदर्शन बढ़ाने वाली दवाएं लीं. इंटरव्यू इस हफ्ते के आखिर में प्रसारित किया जाएगा. सीबीएस टेलीविजन ने भी मंगलवार सुबह के कार्यक्रम में आर्मस्ट्रॉन्ग के कबूलनामे की जानकारी दी है.

आर्मस्ट्रॉन्ग ने कैंसर से लड़ रहे लोगों के लिए बनाई फाउंडेशन लिवस्ट्रॉन्ग के सामने भी डोपिंग स्वीकार की है. 1997 में आर्मस्ट्रॉन्ग ने लिवस्ट्रॉन्ग की नींव रखी. मंगलवार को लिवस्ट्रॉन्ग की प्रवक्ता रै बैजार ने कहा, "लांस आज लिवस्ट्रॉन्ग के मुख्यालय आए, उन्होंने उनकी वजह से हुई शर्मिंदगी के लिए स्टाफ से माफी मांगी."

वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी के पूर्व प्रमुख रिचर्ड पाउंड आर्मस्ट्रॉन्ग के गुनाह कबूल करने से ज्यादा हैरान नहीं हैं. पाउंड के मुताबिक आर्मस्ट्रॉन्ग चाहते तो 'फेस द नेशन' या 'मीट द प्रेस' के सामने भी जा सकते थे, इन जगहों पर उन्हें जनता के सीधे और तीखे सवालों का सामना करना पड़ता. पाउंड मानते हैं कि विन्फ्री के शो के जरिए आर्मस्ट्रॉन्ग ने गुनाह कबूल करने का सबसे कम नुकसानदेह रास्ता चुना.

अमेरिकी साइक्लिस्ट लांस आर्मस्ट्रॉन्ग पर सवा दशक से डोपिंग के आरोप लग रहे थे, लेकिन उन्होंने हमेशा आरोपों का खंडन किया. कुछ मौकों पर तो आरोप लगाने वालों पर मानहानि के मुकदमे भी ठोंके. 2011 तक सब कुछ आर्मस्ट्रॉन्ग के मुताबिक चल रहा था, लेकिन आखिर सच कब तक बाहर नहीं आता.

बीते साल अमेरिकी एंटी डोपिंग एजेंसी ने ऑर्मस्ट्रॉन्ग पर लगे आरोपों की जांच नए सिरे से शुरू की. पुराने खून के नमूनों की जांच शुरू हुई. एजेंसी ने 1,000 पन्नों से भी ज्यादा लंबी रिपोर्ट तैयार की और साबित कर दिया कि आर्मस्ट्रॉन्ग ने डोपिंग की है. अक्टूबर में आर्मस्ट्रॉन्ग से साइक्लिंग जगत की सबसे प्रतिष्ठित रेस टूर डे फ्रांस के सातों टाइटल छिन लिए गए. आर्मस्ट्रॉन्ग तब भी आरोपों का खंडन करते हुए कहते रहे कि वह कानूनी कार्रवाई करेंगे, लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं किया.

दूसरी तरफ आर्मस्ट्रॉन्ग पर लगातार नैतिक दबाव बढ़ता चला गया. वह हीरो से विलेन बनते गए. 2013 के आगाज के साथ ही एक रिपोर्ट आई कि आर्मस्ट्रॉन्ग अपना गुनाह कबूल करने का मन बना रहे हैं. उनके करीबी लोगों के मुताबिक आर्मस्ट्रॉन्ग जल्द ही डोपिंग के आरोपों को सार्वजनिक मंच पर स्वीकार करेंगे. बीते हफ्ते यह कहा गया कि ओपरा विन्फ्री के शो में आर्मस्ट्रॉन्ग सच कह देंगे, सोमवार को वह घड़ी आ ही गई.

13 साल तक आर्मस्ट्रॉन्ग को साइक्लिंग और जिंदगी के योद्धा के रूप में देखा जाता रहा. 1996 में पता चला कि उन्हें अंडकोष का कैंसर है. बीमारी दिमाग और फेफड़ों तक फैल चुकी थी, लेकिन आर्मस्ट्रॉन्ग कैंसर के खिलाफ लड़ाई में विजेता बनकर उभरे. कैंसर पीड़ितों की मदद करने वाली फाउंडेशन के लिए उन्होंने 50 करोड़ डॉलर जुटाए. 1999 से 2005 तक लगातार सात बार टूर डे फ्रांस जीतकर तो उन्होंने आतिशबाजी ही कर दी.

पटाखे अब बुझ चुके हैं, धुंआ भी छंट चुका है. बची है तो सिर्फ राख, जिसमें आर्मस्ट्रॉन्ग के मेडल भी हैं और उनकी प्रतिष्ठा भी.

ओएसजे/एमजे (एपी, एएफपी)

DW.COM

WWW-Links