1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

आयरलैंड: पीएम ने छोड़ा पार्टी अध्यक्ष पद

आयरलैंड के प्रधानमंत्री ब्रायन कोवेन ने भारी दबाव के बीच सत्ताधारी फिएना फेल पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. देश में 11 मार्च को होने वाले आम चुनाव तक वह देश के प्रधानमंत्री बने रहेंगे.

default

ब्रायन कोवेन

कोवेन को आयरलैंड के इतिहास में सबसे अलोकप्रिय प्रधानमंत्री कहा जा रहा है. उन पर अर्थव्यवस्था को सही तरह से न संभाल पाने के आरोप लग रहे हैं. उनके वित्त मंत्री रहते भी देश में प्रोपर्टी के दाम बेतहाशा बढ़े जिसका खमियाजा अर्थव्यवस्था को उठाना पड़ा. गहरे आर्थिक संकट से निपटने के लिए पिछले साल आयरलैंड को यूरोपीय संघ और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से 85 अरब यूरो का कर्जा लेना पड़ा.

अपने हुए पराए

राजधानी डबलिन में सब्जी पहुंचाने का काम करने वाले टोनी मूर का कहना है, "कोवेन को अपनी और अपने पद की गरिमा का ध्यान रखते हुए महीनों पहले ही हट जाना चाहिए था. विदेशों में देश की छवि पर नजर डालिए तो पाएंगे कि हर कोई हम पर हंस रहा है."

कोवेन पर अपनी पार्टी के भीतर से भी बहुत दबाव था. इसीलिए उन्होंने पिछले दिनों पार्टी में अपने नेतृत्व पर विश्वासमत प्रस्ताव पेश किया. इसमें तो वह जीत गए लेकिन जब कुछ दिन बाद उन्होंने अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल की कोशिश की तो सरकार की रही सही साख भी खत्म हो गई.

Massendemonstration in Dublin Irland Finanzkrise Sparpläne NO-FLASH

उनकी पार्टी ने ही मंत्रिमंडल में फेरबदल पर वीटो कर दिया. डबलिन के एक होटल में तुरत फुरत बुलाई गई एक प्रेस कांफ्रेस में पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने की घोषणा करते हुए कोवेन कहा, "यह पार्टी के लिए सही कदम है. हम स्थिति को संभाल लेंगे और लोगों को इस बात का भरोसा होना चाहिए. सरकार अपनी जिम्मेदारियों को सही से निभाएगी. इससे सरकार के कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ेगा."

उधर मुख्य विपक्षी फाइन गाइल पार्टी के नेता एंडा केनी ने प्रधानमंत्री के कदम की आलोचना की है और कहा है कि या तो प्रधानमंत्री देश में तुरंत चुनाव कराने का एलान करें, वरना मंगलवार को संसद में उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा. सरकारी रेडियो आरटीई के मुताबिक फिएना फेल पार्टी के एक सांसद ने कहा है कि उनके लिए सरकार का साथ देना मुश्किल होगा क्योंकि जिन दो निर्दलीय सासंदों पर सरकार टिकी है, उनका रुख साफ नहीं है.

अविश्वास की अग्निपरीक्षा

जानकारों का कहना है कि सिर्फ दो सीटों के लचर बहुमत और सत्ताधारी पार्टी के सांसदों की नाराजगी से साफ है कि सरकार के लिए विश्वासमत की परीक्षा को पार करना आसान नहीं होगा. डबलिन के ट्रिनिटी कॉलेज में राजनीतिशास्त्र के प्रोफेसर मिशाएल मार्श कहते हैं, "हम जानते हैं कि देश में 11 मार्च या उससे पहले चुनाव होने हैं. लेकिन पिछले एक हफ्ते में जो कुछ भी हुआ है, वह बेहद अजीब है."

असल में जब कोवेन ने अपनी पसंद के लोगों को कैबिनेट में जगह देने की कोशिश की तो वह अपनी ही पार्टी का विश्वास ही खो बैठे. गठबंधन में शामिल ग्रीन पार्टी ने भी कोवेन के कदम को अपना अपमान बताया और पार्टी के नेता ने उप प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया

इस बीच फिएना फेल पार्टी के नेता के चुनाव के लिए बुधवार को चुनाव होगा. मुकाबला वित्त मंत्री ब्रायन लेनीहान, सामाजिक सुरक्षा मंत्री इयामोन ओकुइव, पर्यटन मंत्री मैरी हानाफिन और पूर्व विदेश मंत्री माइकल मार्टिन के बीच है. मार्टिन ने कोवेन के नेतृत्व पर पार्टी के भीतर मंगवलार को हुए मतदान से पहले ही उनकी सार्वजनिक तौर पर आलोचना शुरू कर दी. जब कोवेन इस मतदान में जीत गए तो मार्टिन ने सरकार से इस्तीफा दे दिया.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links