आयरन लेडी मार्गरेट थैचर का निधन | दुनिया | DW | 08.04.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आयरन लेडी मार्गरेट थैचर का निधन

ब्रिटेन की एक पूरी पीढ़ी को राजनीति का पाठ पढ़ाने वाली आयरन लेडी मार्गरेट बैरोनेस थैचर अब नहीं रहीं. सोमवार को 87 साल की मार्गरेट थैचर का स्ट्रोक के बाद निधन हो गया.

डिमेंशिया से पीड़ित थैचर पिछले कुछ सालों से बहुत कम ही सार्वजनिक रूप से नजर आईं. बीते दिसंबर में उन्हें एक छोटी सी सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया था. कुछ दिन पहले उनकी बेटी ने बताया था कि उन्हें अकसर यह याद दिलाना पड़ता था कि उनके पति डेनिस की 2003 में मौत हो गई थी. मार्गरेट थैचर को कोई दशक भर पहले ही कुछ हल्के दौरे पड़ने के बाद सार्वजनिक रूप से भाषण देने से डॉक्टरों ने मना कर दिया था.

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय, प्रधानमंत्री डेविड कैमरन, ब्रिटेन और दुनिया के तमाम नेताओं ने ब्रिटेन की पहली महिला प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि दी है. महारानी के आवास बकिंघम पैलेस से कहा गया है, "बैरोनेस थैचर की मौत की खबर सुन कर महारानी उदास हैं. महारानी परिवार के प्रति सहानुभूति के लिए निजी संदेश भेज रही हैं." प्रधानमंत्री कैमरन ने कहा, "बड़े दुख के साथ मैंने लेडी थैचर की मौत को स्वीकार किया है. हमने एक महान नेता, एक महान प्रधानमंत्री और एक महान ब्रिटिश व्यक्ति खो दिया है."

2003-2005 के बीच कंजर्वेटिव पार्टी के नेता रहे माइकल हॉवर्ड ने स्काई न्यूज टेलीविजन से कहा, "मैं मानता हूं कि उन्होंने हमारे देश को बचा लिया, उन्होंने हमारे देश की अर्थव्यवस्था को बदला और मेरा यकीन है कि इतिहास में उन्हें ग्रेट ब्रिटेन की महान प्रधानमंत्री के रूप में याद रखा जाएगा."

आयरन लेडी

शीत युद्ध में दक्षिणपंथ का झंडा बुलंद करने वाली मार्गरेट थैचर ने 1979 से 1990 के बीच ब्रिटेन की कमान संभाली थी. ब्रिटेन की कंजर्वेटिव पार्टी की नेता रही मार्गरेट थैचर ब्रिटिश इतिहास की अकेली महिला हैं जिनका प्रधानमंत्री बनने के साथ ही 20वीं सदी में डाउनिंग स्ट्रीट पर सबसे ज्यादा दिनों तक कब्जा रहा. दक्षिणपंथी ब्रिटेन को आर्थिक ऊहापोह से बाहर निकालने के लिए लेडी थैचर की तारीफ करते हैं हालांकि वामपंथी उन पर पारंपरिक उद्योगों को खत्म करने के आरोप लगाते हैं. उनका ये भी आरोप है कि थैचर की नीतियों ने समाज के ताने बाने को तोड़ कर रख दिया.

दुनिया के मंच पर भी उनकी अच्छी खासी पकड़ रही है और उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन के साथ एक बेहद कामयाब रिश्ता बनाया. सोवियत साम्यवाद के खात्मे में इसकी एक बड़ी भूमिका थी. इसके साथ ही उन्होंने यूरोप के साथ ज्यादा करीबी रिश्ते रखने का भी पुरजोर विरोध किया था.

13 अक्टूबर 1925 को पूर्वी इग्लैंड के ग्रांथम शहर में एक राशन बेचने वाले के यहां लेडी थैचर पैदा हुईं. ग्रामर स्कूल और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से रसायन शास्त्र की डिग्री लेने के बाद उन्होंने 1951 में कारोबारी डेनिस से शादी की और दो साल बाद जुड़वां बच्चों कैरोल और मार्क को जन्म दिया.

1959 में पहली बार उन्हें ब्रिटिश संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमंस के लिए चुना गया और 1975 में उन्होंने पूर्व विपक्षी कंजर्वेटिव नेता एडवर्ड हीथ की जगह ले ली. चार साल बाद उन्हें ब्रिटेन का प्रधानमंत्री बनाया गया.

आयरन लेडी की विरासत थैचरिज्म के नाम से विख्यात है. इस नीति को मानने वालों ने निजी आजादी को बढ़ावा दिया और ब्रिटेन को सदियों से वर्गों में विभाजित रखने वाली व्यवस्था को उखाड़ फेंका. 1982 में जब अर्जेंटीना ने ब्रिटेन के कब्जे वाले फॉल्कलैंड द्वीपों पर कब्जा करने की कोशिश की तो थैचर ने बड़ी संख्या में सैनिकों और जंगी जहाजों को वहां भेजा और महज दो महीने में ही जीत हासिल कर ली.

एनआर/एएम (एएफपी, रॉयटर्स, डीपीए)

DW.COM