1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

आम को मिला सचिन का नाम

सचिन तेंडुलकर की महानता के स्मारक अब खेल के मैदान से निकल कर आम के बगान तक पहुंच गये हैं. उत्तर प्रदेश के एक किसान ने फलों का सम्राट कहलाने वाले आम की अपनी बनायी नयी क़िस्म को क्रिकेट के सम्राट सचिन का नाम दिया है.

default

लखनऊ के पास मलीहाबाद के कलीमुल्ला ख़ान ने समाचार चैनल एनडीटीवी को बताया कि उन्होंने भारतीय आम की दो सबसे प्रसिद्ध क़िस्मों चौसा और अल्फ़ोंसो के मेल से एक नयी क़िस्म पैदा की है और उसे "सचिन" नाम दिया है.

"पूरी दुनिया में सचिन तेंडुलकर जैसा कोई खिलाड़ी नहीं है, इसीलिए मैंने इस आम को सचिन नाम दिया है," इस बुज़ुर्ग किसान ने बताया.

Alphonso Mangos

चौसा उत्तर प्रदेश के आम की एक सबसे प्रसिद्ध क़िस्म है और अल्फ़ोंसो को महाराष्ट्र में "फलों का बादशाह" माना जाता है.

कलीमुल्ला ख़ान का कहना था कि "सचिन" आम बाज़ार में बेचा नहीं जायेगा, "सचिन अनमोल हैं, दुनियाभर में एक हीरो हैं, कोई बेचने की चीज़ तो हैं नहीं." ख़ान "सचिन" आम वाला एक पेड़ सचिन तेंडुलकर को भेंट करना चाहते हैं, ताकि वे अपने परिवार और मित्रों के साथ उसके बेजोड़ स्वाद का मज़ा ले सकें. ख़ान ने आमों की अब तक 300 वर्णसंकर क़िस्में तैयार की हैं. उनकी अगली क़िस्म का नाम होगा लता मंगेशकर.

रिपोर्ट- एएफ़पी, राम यादव

संपादन- प्रिया एसलबॉर्न

संबंधित सामग्री