1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आमेर ने जानबूझ कर नो बॉल फेंकीः अंपायर

लॉर्ड्स के मैदान पर हुए जिस टेस्ट मैच पर स्पॉट फिक्सिंग के आरोप लग रहे हैं उसके अंपायर मानते हैं कि पाकिस्तानी गेंदबाज मोहम्मद आमेर ने जानबूझ कर नो बॉल फेंकी, पर वे इसे स्पॉट फिक्सिंग से ज्यादा एक ट्रिक मानते हैं.

default

इग्लैंड के खिलाफ खेले गए इस मैच के अंपायर न्यूजीलैंड के टोनी हिल और बिली बोडन जोनाथन ट्रोट को फेंकी गई आमेर की गेंद पर चिंतित नजर आते हैं. युवा गेंदबाज आमेर का पैर क्रीज से आगे चला गया लेकिन फिर भी उन्होंने शॉर्ट पिच गेंद फेंकी. हिल ने एक ऑस्ट्रेलियाई अख़बार में लिखा है, "हमने कोई शक नहीं किया है. उनका पैर बहुत आगे चला गया, लेकिन हम सोचते हैं कि उन्होंने ट्रोट को पेवेलियन भेजने के लिए जानबूझ कर ऐसा किया, जो बढ़िया बल्लेबाजी कर रहे थे. बिली और मैंने बातचीत की और सोचा कि ऐसा जानबूझ कर किया गया है. कई बार तेज गेंदबाज फायदा उठाने के लिए ऐसा करते हैं."

एक ब्रिटिश अख़बार ने स्टिंग ऑपरेशन कर आमेर के अलावा दो अन्य पाकिस्तानी क्रिकेटरों मोहम्मद आसिफ और सलमान बट को स्पॉट फिक्सिंग में शामिल बताया है. आईसीसी इन तीनों को निलंबित भी कर चुकी हैं. अखबार का कहना है कि आमेर और आसिफ ने सट्टेबाजों के कहने पर चौथे टेस्ट के पहले दिन का खेल शुरू होते ही जानबूझ कर तीन नो बॉल फेंकी.

Pakistan Cricket Manipulation

आरोपी खिलाड़ी निलंबित

तीनों खिलाड़ियों को इस शर्त पर पाकिस्तान भेज दिया कि जरूरत पड़ने पर वे पूछताछ के लिए हाजिर रहेंगे. वे अगले महीने आईसीसी की सुनवाई के दौरान पेश होंगे. पुलिस स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों में पाकिस्तान के चौथे क्रिकेटर वहाब रियाज से भी पूछताछ कर रही है.

हिल कहते हैं, "यह लॉर्ड्स में मेरा पहला मैच था. लेकिन वही विवादों में घिर गया. इसे याद तो रखा जाए लेकिन अच्छे कारणों के लिए नहीं."

पाकिस्तान ने 1-3 से यह टेस्ट सीरीज गंवाई. इन दिनों चल रही एकदिवसीय मैचों की सीरीज में वह भी 0-2 से पिछड़ चुका है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links