1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आमेर के कहर पर ब्रॉड का पहरा, इंग्लैंड मजबूत

पाकिस्तानी गेंदबाज मोहम्मद आमेर की कहर बरपाती गेंदों के आगे जब इंग्लैंड का हर खिलाड़ी पस्त होता गया, तब आठवें नंबर पर जोनाथन ट्रॉट का साथ देने आए स्टुअर्ट ब्रॉड का बल्ला विकेट के आगे ऐसा अड़ा कि मैच का पासा ही पलट गया.

default

102 के स्कोर पर सात विकेट खो चुकी इंग्लैंड की टीम शुक्रवार को मैच के दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक 346 रन बनाकर मजबूत स्थिति में आ गई, जबकि उसके तीन विकेट सही सलामत हैं. ब्रॉड ने टेस्ट क्रिकेट में अपनी पहली सेंचुरी पूरी करते हुए ट्रॉट के साथ मिलकर टीम को मुसीबत से निकाल लिया. दूसरे दिन के खेल के बाद वह 125 के स्कोर पर नॉट आउट रहे. ट्रॉट ने भी अपनी सेंचुरी पूरी की. तीसरे दिन वह 149 के निजी स्कोर से आगे खेलना शुरू करेंगे. आठवें विकेट के लिए दोनों 244 रन बनाकर पाकिस्तान के खिलाफ पुराने रिकॉर्ड को तोड़ चुके हैं. इससे पहले ब्रॉड और मैट प्रायर ने पिछले हफ्ते ओवल में 119 रन बनाए थे. सेंचुरी पूरी करने के बाद ब्रॉड ने कहा, "यह एक अद्भुत अहसास है. माहौल शानदार था जब मैंने ट्रॉटी के साथ खेलना शुरू किया तो हमारी योजना बस यही थी कि 5-5 रन बनाते रहें और स्कोर को आगे बढ़ाएं."

इससे पहले आमेर ने इंग्लैंड की पारी को उधेड़कर रख दिया. उन्होंने 23 ओवरों में सिर्फ 73 रन देकर छह विकेट झटके. 18 साल के आमेर 14वें मैच में 50 विकेट पूरे किए और ऐसा करने वाले वह सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए. आमेर ने कहा, "यह बहुत खास पल था. मेरे करियर का सबसे अच्छा आंकड़ा. इसलिए मैं बहुत खुश हूं, लेकिन उदास भी हूं. हम अच्छी स्थिति में थे, लेकिन अब हम फिर से बैकफुट पर हैं."

Stuart Broad feiert nach einem Tor im Spiel Pakistan gegen England

ब्रॉड की पहली सेंचुरी

मैच का पहला दिन बारिश की वजह से धुल गया था. इंग्लैंड ने दूसरे दिन सुबह एक विकेट पर 39 रन से आगे खेलना शुरू किया. तब ट्रॉट आठ रन पर खेल रहे थे. लेकिन उसके बाद वह विकेट के एक सिरे पर खड़े खिलाड़ियों का आते जाते देखते रहे. पहली पांच गेदों में ही तीन विकेट गिर गए, जबकि एक भी रन नहीं बन पाया. इस तरह खेल शुरू होते ही इंग्लैंड का स्कोर चार विकेट पर 39 रन हो गया. तीनों विकेट आमेर ने लिए.

इसके बाद भी आमेर का कहर थमा नहीं. उन्होंने चौथे, पांचवें और छठे विकेट के रूप में केविन पीटरसन, पॉल कॉलिंगवुड और इयान मॉर्गन का विकेट लिया. लंच के वक्त इंग्लैंड का स्कोर पांच विकेट के नुकसान पर 97 रन था. और लंच के फौरन बाद यह सात विकेट पर 102 हो गया. तीन गेंदों में ही आमेर ने मैट प्रायर और ग्रेम स्वान को चलता कर दिया. इस मौके पर ट्रॉट का साथ देने के लिए ब्रॉड आए और फिर पाकिस्तान के पक्ष में कुछ भी अच्छा नहीं हुआ. यहां से मैच इंग्लैंड की ओर खिसकना शुरू हुआ.

चाय के कुछ ही देर बाद ट्रॉट ने अपनी सेंचुरी पूरी की. उन्होंने इसमें 13 चौके लगाए. उसके बाद ब्रॉड ने अपना पहला टेस्ट शतक पूरा किया. उन्होंने 32वें टेस्ट मैच में 159 गेंदें खेलकर एक छक्के और नौ चौकों की मदद से 100 का आंकड़ा पार किया.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः आभा एम