1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

आमिर बोले, परफेक्शनिस्ट नहीं हूं

बॉलीवुड में आमिर खान को अकसर ''मिस्टर परफेक्शनिस्ट'' कहा जाता है, लेकिन वह खुद ऐसा नहीं मानते. आमिर का कहना है कि वह तो सिर्फ ऐसा काम करने की कोशिश करते हैं जिसमें उनका विश्वास है.

default

आमिर बोले, दिल से करते हैं काम

हाल ही में मेलबर्न फिल्म फेस्टिवल में हिस्सा लेने गए आमिर ने कहा, ''मैं खुद को परफेक्शनिस्ट नहीं मानता. मैं नहीं समझता हूं कि कोई परफेक्ट होता है या हो सकता है. मुझे आप ऐसा आदमी कह सकते हैं जो अपने काम को एन्जॉय करता है. मैं अपना काम बहुत ही प्यार और जुनून के साथ करता हूं.''

आमिर खान गजनी में जहां एट पैक बॉडी के साथ दिखे वहीं थ्री इडियट्स में लोगों को उनका कॉलेज लुक खूब पसंद आया. इसके अलावा लगान और तारे जमीन पर जैसी उनकी फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर खूब धूम मचाई. आजकल उनके प्रोडक्शंस की फिल्म पीपली लाइव लोगों को लुभा रही है. अपनी कामयाबी का श्रेय वह अपने साथ जुड़े लोगों को देते हैं. आमिर कहते हैं, ''मैं अपने करियर में कामयाब रहा हूं. लेकिन आपको मानना पड़ेगा कि फिल्म बनाना एक मिली जुली कोशिश है. मेरी जितनी भी फिल्में हिट रही हैं, वह सिर्फ मेरी वजह से नहीं हैं. उनमें बहुत से काबिल लोगों का योगदान है.''

आमिर की पीपली लाइव में काम करने वाले कई एक्टर थिएटर से हैं और उन्होंने पहली बार फिल्म में काम किया है. यह फिल्म भारत में गांव और शहरों के बीच बढ़ती खाई को दिखाती है. आमिर खान कहते हैं कि इस फिल्म को बनाते वक्त उन्होंने पुरस्कार के बारे में नहीं सोचा था. उनके मुताबिक, ''जब मैं इस फिल्म को बना रहा था, तो मेरे दिमाग में ऑस्कर या फिर कोई दूसरा पुरस्कार नहीं था. मैं फिल्म देखने वालों के लिए और अपने लिए बनाता हूं. अगर मेरी फिल्में ऐसे किसी मंच पर दिखाई जाती हैं जहां लोगों को भारतीय फिल्में देखने को नहीं मिलती, तो यह अच्छी बात है.''

जब उनसे पूछा गया कि क्या वह बॉलीवुड का रुख बदलने की कोशिश कर रहे हैं तो वह कहते हैं, ''मैं फिल्म इंडस्ट्री में बीस साल से भी ज्यादा समय से काम कर रहा हूं. मुझे लगता है कि मैं धारा के विपरीत तैर रहा हूं और खुशी होती है कि मुझे कुछ कामयाबी भी मिली है. लेकिन मैं किसी बदलाव के लिए फिल्में नहीं बना रहा हूं.''

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links