1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

आमिर ने किया पीके का बचाव

बॉलीवुड स्टार आमिर खान अपनी ताजा फिल्म 'पीके' को लेकर विवादों में घिरे हैं. कई लोगों ने फिल्म पर हिन्दू विरोधी होने का आरोप लगाया है. आमिर ने कहा कि उनके मन में हिंदू धर्म के लिए आदर है.

राजकुमार हिरानी के निर्देशन में बनी फिल्म पीके में उन धार्मिक गुरुओं पर सवाल किए गए हैं जो ईश्वर के प्रति आम लोगों की श्रद्धा को कारोबार का रूप दे रहे हैं. फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कमाल की कामयाबी पाई है और समीक्षकों से तारीफ बटोरी है. दूसरी ओर सोशल मीडिया पर इस फिल्म का बहिष्कार करने की मुहिम भी चल रही है. कुछ लोगों ने तो आमिर खान और निर्देशक राजकुमार हिरानी के खिलाफ यह कहकर मामला भी दर्ज कराया है कि यह फिल्म हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाती है.

आमिर ने फिल्म का बचाव करते हुए कहा, "मेरे मन में हिंदू धर्म के प्रति आदर है. जब मेरी पहली पत्नी रीना की मां हवन कराती थीं तो मैं भी उसमें शामिल होता था." आमिर का कहना है कि फिल्म पीके किसी विशेष धर्म के खिलाफ नहीं है. यह फिल्म उन लोगों के खिलाफ है जो धर्म के नाम पर लोगों का शोषण करते हैं और उनकी भावनाओं से खेलते हैं.

इससे पहले फिल्म का पोस्टर भी अश्लीलता के आरोप में विवादों में घिरा रहा. फिल्‍म के पहले पोस्‍टर में आमिर खान रेलवे ट्रैक पर निर्वस्‍त्र खड़े हैं और उन्‍होंने हाथ में एक ट्रांजिस्‍टर ले रखा है. पीके का निर्माण विधु विनोद चोपड़ा ने किया है. आमिर, राजकुमार हिरानी और विधु की जोड़ी इससे पहले फिल्म '3 इडियट्स' भी साथ में बना चुकी है. पीके में संजय दत्त ने भी अभिनय किया है. फिल्म में आमिर के साथ मुख्य भूमिका में अभिनेत्री अनुष्का शर्मा हैं.

एसएफ/एमजे (वार्ता)

DW.COM

संबंधित सामग्री