1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आप्रवासियों के लिए ओबामा का तोहफा

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आव्रजन नीति में कई तरह की ढील देने की घोषणा से एक तरफ जहां अवैध रूप से वहां रहने वाले लाखों लोगों के चेहरे पर चमक आ गई है तो दूसरी तरफ विपक्षी रिपब्लिकन पार्टी के तेवर सख्त हो गए हैं.

बराक ओबामा ने अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान आव्रजन नियमों में सुधार का वादा किया था और अब उन्होंने इसकी बागडोर अपने हाथों में ले ली है. ओबामा ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि अब अमेरिका में अवैध रूप से रहने वाले हर शख्स के ऊपर वापस उनके देश भेजे जाने का खतरा मंडराता नहीं रहेगा बल्कि उन्हें यहां रहने का एक सुनहरा मौका दिया जाएगा.

ओबामा का कहना है कि देश में पांच साल से अधिक समय से अवैध रूप से रहने वाले और काम करने वाले लोग और जिनके बच्चे की नागरिकता अमेरिकी है या वह यहां का वैध स्थायी निवासी है तो वे यहां तीन साल तक के काम के लिए अनुमति ले सकते हैं. उन्होंने साथ ही 2012 में की गई घोषणा को अधिक विस्तारित करते हुए कहा कि वैसे नाबालिग जो एक जनवरी 2010 के पहले यहां आए हैं और उस समय उनकी उम्र 16 साल या इससे कम थी, उन्हें अस्थायी निवास की अनुमति दी जाएगी. ओबामा ने अपनी नई घोषणा में विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित के छात्रों और हाईटेक कर्मचारियों के लिए भी आव्रजन में छूट देने की घोषणा की है. नए नियम का लाभ उठाने वालों की आपराधिक पृष्ठभूमि की जांच होगी. इस नियम का फायदा लेने वालों का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए और वह कर अदा करने वाला होना चाहिए.

1.13 करोड़ लोगों की किस्मत चमकी

राष्ट्रपति की नई घोषणा से यहां रहने वाले उन एक करोड़ 13 लाख लोगों को लाभ मिलेगा जिनके पास कोई वैध दस्तावेज नहीं है. हालांकि ओबामा ने साथ ही साफ किया है कि उनकी इस घोषणा को नागरिकता देने के लिए उठाया गया कदम न माना जाए. उन्होंने की नई घोषणा के तहत अवैध रूप से रहने वाले अस्थायी तौर पर यहां रह सकते हैं लेकिन उन्हें न तो नागरिकों को दी जाने वाली सुविधाएं मिलेंगी और न ही उन्हें यहां की स्थायी नागरिकता हासिल होगी. ओबामा ने अवैध प्रवासियों को चेतावनी भरे लहजे में कहा, "अगर आप अपराधी हैं तो आपको हर हाल में स्वदेश भेज दिया जाएगा, अगर आप अभी अवैध रूप से अमेरिका में घुसने की योजना बना रहे हैं तो आपके पकड़े जाने और देश वापस भेजे जाने की संभावना अधिक बढ़ गई है."

पिछले छह साल में अपराधियों को उनके देश वापस भेजे जाने की संख्या में 80 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. नई नीति के तहत परिवारों, बच्चों या मेहनती मां को नहीं बल्कि अपराधियों, दोषियों और गैंग के लोगों को उनके देश वापस भेजने का काम तेजी से होगा.

रिपब्लिकन आग बबूला

आव्रजन नीति में सुधार को लेकर चल रही राष्ट्रपति ओबामा की कवायद से विपक्षी रिपब्लिकन पार्टी काफी नाराज है. टेक्सास प्रांत के एटॉर्नी जनरल ग्रेग एबट ने इस मसले पर उन्हें अदालत ले जाने की चुनौती भी दे दी है. एबट के मुताबिक, "मैं राष्ट्रपति ओबामा को तत्काल अदालत में ले जाने के लिए तैयार हूं. देश की संप्रभुता और कानून के शासन की रक्षा के लिए ऐसा करना जरूरी है."

इसी महीने हुए मध्यावधि चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी की भारी जीत के बाद अब दोनों सभाओं में उसका बहुमत हो गया है जिससे ओबामा की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. पिछले साल सीनेट ने एक नए आव्रजन अधिनियम को पारित किया था लेकिन तब उस पर डेमोक्रैटिक पार्टी का कब्जा था जबकि रिपब्लिकन पार्टी की बहुमत वाली प्रतिनिधि सभा ने उसे खारिज कर दिया था. रिपब्लिकन पार्टी के नेता मिच मैक्कॉनेल ने कहा है, "अगर राष्ट्रपति ओबामा लोगों के खिलाफ जाकर काम करेंगे और अपनी इच्छा देश पर थोपेंगे तो कांग्रेस अपना काम करेगी."

दूसरी तरफ ओबामा का कहना है कि उन्हें यह घोषणा करने का वैधानिक अधिकार हासिल है, "मुझे राष्ट्रपति के रूप में यह एलान करने का अधिकार है और इसी तरह के काम मेरे पहले के डेमोक्रैटिक पार्टी तथा रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति भी करते रहे हैं जिससे हमारी आव्रजन नीति अधिक निष्पक्ष और न्यायपूर्ण हो पाई."

एए/एएम (एपी, रॉयटर्स, एएफपी)


DW.COM

संबंधित सामग्री