1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आधे सीरिया पर आईएस का कब्जा

सीरिया के ऐतिहासिक शहर पालमिरा पर कब्जे के बाद आईएस लड़ाकों ने इराकी सीमा पर स्थित चौकियों और रमादी पर कब्जा कर लिया. पालमिरा में घर घर ली जा रही तलाशी में लोगों की गिरफ्तारी के अलावा सैनिकों की जान भी ली जा रही है.

सीरिया के आधे से ज्यादा हिस्से पर कब्जा करने वाले आईएस के जिहादियों ने सीरिया और इराक दोनों को समेटने वाले अपने खिलाफत को और मजबूत कर लिया है. उन्होंने दमिश्क बगदाद हाइवे पर स्थित अल तनाफ और अल वालिद सीमा चौकियों पर कब्जा कर लिया. इराक के साथ लगी सीमा पर यह अंतिम चौकी थी जिस पर अभी भी राष्ट्रपति बशर अल असद के सैनिकों का नियंत्रण था. कुर्दों के नियंत्रण वाले उत्तर में एक छोटे से हिस्से को छोड़कर अब सीमा के सारे हिस्सों पर आईएस का कब्जा है.

होम्स स्थित एक्टिविस्ट बेबर्स अल तलावी और एक विपक्षी फेसबुक पेज के अनुसार पालमिरा पर कब्जे के बाद आईएस ने 280 सैनिकों और सरकार समर्थक सुरक्षा बलों की हत्या कर दी है. ब्रिटेन स्थित सीरिया मानवाधिकार ऑबजर्वेटरी ने 17 लोगों के मारे जाने की रिपोर्ट दी है. इसके अलावा उसने 10 लोगों की हत्या की अपुष्ट खबर होने की बात कही है. सीरिया के केंद्रीय प्रांत होम्स के गवर्नर तलाल बराजी ने भी कहा है कि आईएस के लड़ाकों ने लोगों का अपहरण कर लिया है और उन्होंने "जनसंहार भी किया होगा." सीरिया और इराक में आईएस के लड़ाकों ने पहले की कई लड़ाईयों में जीत के बाद सैकड़ों सैनिकों को मार डाला है और अक्सर ऑनलाइन पर इन हत्याओं के लिए दंभ भरा है.

सीरिया की सरकारी मीडिया ने कहा है कि दमिश्क और इराकी सीमा के बीच स्थित रणनैतिक चौराहे पर स्थित पालमिरा में बड़ी संख्या में आईएस आतंकियों के घुसने के बाद सरकार समर्थक सैनिक पीछे हट गए. इस बीच आईएस के सफल अभियानों पर बहस शुरू हो गई है. जिहादियों की सफलता आईएस को कमजोर करने के लिए अमेरिका के आठ महीने के सैनिक अभियान के बावजूद हुई है. अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आईएस की जीत को रणनैतिक विफलता बताया है और इस बात से इंकार किया है कि अमेरिकी नेतृत्व वाला सहबंघ आईएस से हार रहा है.

इन जीतों के बाद दोनों ही देशों से असैनिक नागरिक हजारों की तादाद में भाग रहे हैं और दुनिया में आशंका व्यक्त की जा रही है कि पालमिरा के ऐतिहासिक स्थलों में आईएस के लड़ाके वही विनाश लीला दोरहाएंगे जो उन्होंने पहले इराक के ऐतिहासिक शहरों में किया है. राष्ट्रपति ओबामा ने आईएस की जीत के महत्व को कम कर आंकने की कोशिश की है लेकिन फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसोआ ओलांद ने कहा है कि दुनिया को उग्रपंथियों को रोकने और पालमिरा को बचाने के लिए कार्रवाई करनी होगी. यूनेस्को की प्रमुख इरीना बोकोवा ने पालमिरा के खंडहरों को मानव सभ्यता की जन्मस्थली बताया है और कहा, "यह पूरी मानवता का है और जो कुछ हो रहा है उस पर आज सबको चिंतित होना चाहिए."

एमजे/एसएफ (एपी, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री