1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

आधे काले आधे गोरे सैंटा क्लॉस

सैंटा क्लॉस गोरे हैं कि काले? इस सवाल का कोई भी जवाब गलत होगा, क्योंकि सैंटा क्लॉस एक काल्पनिक व्यक्ति थे. और बच्चों को खुश करने के लिए बनाए गए सैंटा की वजह से कुछ बच्चे दुखी भी हुए हैं.

मेगिन केली फॉक्स टीवी चैनल पर होस्ट हैं. पिछले हफ्ते उन्होंने अपने शो में बच्चों से कहा कि सैंटा क्लॉस श्वेत हैं. कुछ दिनों बाद केली को अपनी गलती का अहसास हुआ और उन्होंने एक लेख का जिक्र किया जिसके बारे में उनके कार्यक्रम में बात हो रही थी. यह लेख आयशा हैरिस नाम की महिला ने एक वेबसाइट पर लिखा था. अफ्रीकी मूल की हैरिस ने पूछा कि सैंटा को हमेशा श्वेत क्यों दिखाया जाता है. हैरिस के मुताबिक सैंटा को पेंग्विन होना चाहिए. इससे बहुत सारे अश्वेत बच्चे अपने को बेहतर महसूस करेंगे, उन्हें राहत मिलेगी कि सैंटा श्वेत नहीं हैं.

Indien - Weihnachtsmarkt

भारत में क्रिसमस

फॉक्स मेजबान केली ने कहा कि वह इस लेख को एक हलके तरीके से पेश करना चाहती थीं लेकिन उन्होंने अपने कार्यक्रम में कहा कि ईसा मसीह खुद भी श्वेत थे और इस बात की पुष्टि की जा सकती है. कई लोगों ने केली पर सवाल उठाए- क्या उन्हें पता है कि सैंटा एक काल्पनिक चरित्र है. कई दर्शकों ने साफ साफ केली की निंदा की और कहा कि वह नस्लवादी हैं और सैंटा या ईसा मसीह को अश्वेत मानना उनके बस की बात नही.

कई लोगों ने केली के इस्तीफे की मांग की लेकिन ऐसे भी लोग थे जिनका मानना था कि अगर सैंटा काल्पनिक है, तो इस विवाद को ज्यादा अहमियत नहीं देनी चाहिए. न्यू मेक्सिको में भी अफ्रीकी मूल के युवक ने यही सवाल उठाया जब उसने सैंटा के कपड़े पहनना चाहा. उसके एक अध्यापक ने उससे कहा कि वह सैंटा नहीं बन सकता क्योंकि सैंटा श्वेत है. युवक के अध्यापक ने बाद में माफी भी मांगी.

Nikolaus Seoul

सोल की सड़कों पर सैंटा

लेकिन गलती काफी हद तक मीडिया की भी है. केली खुद कहती हैं कि उन्हें हमेशा श्वेत सैंटा की तस्वीरें दिखाई गईं. अब धीरे धीरे अमेरिका में अश्वेत सैंटा की संख्या भी बढ़ रही है. राजनीतिक विश्लेषक जिरलीना मैक्सवेल कहती हैं कि इस तरह के संकेत बच्चों के आत्मविश्वास को प्रभावित करते हैं. "अगर कोई इस बात पर जोर देता है कि सैंटा श्वेत है, तो हमें इस पर बहस करनी होगी."

अमेरिका के अलावा यूरोप अब भी नस्लवाद की चपेट से पूरी तरह आजाद नहीं हुआ है. जर्मनी में एक टीवी शो में खिलाड़ियों से कहा गया कि वह अपना मुंह काला रंग कर आएं. नीदरलैंड्स की एक परंपरा है जिसमें 6 दिसंबर को सिंटरक्लास आता है और बच्चों को तोहफे देता है. इसके साथ इसका अश्वेत दोस्त रहता है जिसे काला पेटर कहते हैं. काले पेटर का मुंह काला, उसके बाल घुंघराले और उसके होंठ लाल और मोटे होते हैं. अब नीदरलैंड्स के अश्वेत नागरिकों ने बिना काले पेटर के सिंटरक्लास का दिन मनाना शुरू कर दिया है.

एमजी/एजेए (डीपीए)

DW.COM