1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आतंक से लड़ने के अजीब विज्ञापन पर बैन

ब्रिटेन में एक रेडियो विज्ञापन को बैन कर दिया गया है. यह विज्ञापन एक ऐसी हॉट लाइन सर्विस का है, जिसके जरिए लोग आतंकवादी गतिविधियों की सूचना दे सकते हैं. इसके जरिए लोग अपने पड़ोसी पर जरा सा भी शक होने पर फोन कर सकते हैं.

default

आतंक से लड़ने के अजीबोगरीब कदम

ब्रिटेन में विज्ञापनों की निगरानी करने वाली संस्था एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी (एएसए) ने चेतावनी दी है कि यह विज्ञापन 'गंभीर रूप से अपमानजनक' हो सकता है. असोसिएशन ऑफ चीफ पुलिस ऑफिसर्स (एसीपीओ) ने इस विज्ञापन को बनाया है और इसके खिलाफ अब तक 18 शिकायतें मिल चुकी हैं.

देश भर में सुने जाने वाले एक रेडियो स्टेशन पर प्रसारित इस विज्ञापन में कहा गया, "पड़ोस में कोने के मकान में रहने वाला शख्स लोगों से ज्यादा बात नहीं करता क्योंकि वह खुद में रहना ज्यादा पसंद करता है. वह सारे भुगतान कैश में करता है क्योंकि उसके पास बैंक का कार्ड नहीं है. वह अपने पर्दे बंद करके रखता है क्योंकि उसका घर एक बस रूट पर है. हो सकता है इसका मतलब कुछ भी न हो. लेकिन यह सब मिलकर आपके शक की वजह बन सकता है. हम सबको आंतकवाद के खिलाफ लड़ाई में एक भूमिका निभानी है. अगर आपको कुछ संदेहास्पद दिखाई दे तो गोपनीय एंटी टेरर हॉटलाइन पर कॉल करें."

एएसए ने साफ कर दिया है कि यह विज्ञापन इस रूप में दोबारा रेडियो पर नहीं चलना चाहिए. एक बयान में एएसए ने कहा, "हम मानते हैं कि कुछ सुनने वालों को विज्ञापन में बताया गया व्यवहार अपने जैसा लग सकता है. किसी को यह बात अपमानजनक लग सकती है कि उसकी कोई सामान्य सी बात भी लोगों के शक की वजह बन सकती है."

एएसए ने कहा कि विज्ञापन सुनकर कुछ लोगों को इस बात से भी दिक्कत हो सकती है कि उनसे अपने समुदाय के कुछ सदस्यों के बारे में सिर्फ इसलिए सूचना देने के लिए कहा जा रहा है क्योंकि वे एक निश्चित रूप से व्यवहार करते हैं. एएसए के मुताबिक यह गंभीर रूप से अपमानजनक हो सकता है.

एसीपीओ ने उन लोगों से माफी मांगी है जिन्होंने इस विज्ञापन को अपमानजनक पाया. हालांकि उसने यह भी कहा कि यह विज्ञापन कुछ खास चाल चलन पर आधारित है जिसकी पहचान पुलिस ने की है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

संबंधित सामग्री