1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आतंकवाद बढ़ा रही है बीजेपीः शिंदे

भारत के गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे बीजेपी व आरएसएस पर हिंदू आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया. बीजेपी ने कड़ा पलटवार किया है, अब शिंदे ने भी अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा है कि वो भागवा आतंकवाद कहना चाह रहे थे.

जयपुर में कांग्रेस के चिंतन शिविर को संबोधित करते हुए भारतीय गृह मंत्री ने कहा, "हमारे पास ऐसी रिपोर्टें हैं कि आरएसएस, बीजेपी कैंप देश में हिंदू आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं."

शिंदे के मुताबिक सरकारी एजेंसियों की जांच से यह बात साफ है कि 2007 के समझौता एक्सप्रेस धमाके और 2008 के मालेगांव धमाकों के पीछे हिंदू कट्टरपंथी संगठनों का हाथ है. भारत से पाकिस्तान जाने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन की एक बोगी में हुए धमाके में 68 लोग मारे गए थे. मालेगांव के बाजार में कई छोटे धमाके हुए थे. इन धमाकों के आरोप में प्रज्ञा ठाकुर और असीमानंद समेत कई लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

शिंदे ने प्रमुख विपक्षी पार्टी बीजेपी और उसके आधार संगठन आरएसएस पर यह भी आरोप लगाया कि ये संगठन धमाकों के लिए मुस्लिम संगठनों को जिम्मेदार ठहराते हैं.

Mukhtar Abbas Naqvi, Vizepräsident der Bharatiya Janata Partei (BJP)

बीजेपी का पलटवार

बीजेपी ने शिंदे के बयान पर कड़ी नाराजगी जताई है. बीजेपी के प्रवक्ता मुख्तार अब्बास नकवी ने इन बयानों को 'आधारहीन और भड़काऊ आरोप' करार दिया. विपक्षी पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अपने नेता के बयान के लिए माफी मांगने को भी कहा है. शिंदे पर निशाना साधते हुए नकवी ने कहा, "भारत में आतंकवाद फैलाने को लेकर पाकिस्तान को चेतावनी देने के बजाए कांग्रेस बीजेपी को बदनाम करने की कोशिश कर रही है."

बीजेपी के दूसरे प्रवक्ता शहनवाज हुसैन ने शिंदे पर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया. हुसैन के मुताबिक कांग्रेस आतंकवाद के नाम पर मुसलमानों और हिंदुओं को बांटने की कोशिश कर रही है.

बढ़ते राजीनीतिक हंगामे के बीच कांग्रेस के एक और वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर गृह मंत्री के समर्थन में उतरे. अय्यर ने कहा कि समझौता और मालेगांव ब्लास्ट की जांच में सच बाहर आया है, यह एक खुला राज है.

वहीं कांग्रेस के नेता राजीव शुक्ला ने शिंदे के बयान पर सफाई दी है. संसदीय कार्य राज्यमंत्री राजीव शुक्ला के मुताबिक हिंदू आतंकवाद जैसी कोई चीज नहीं है. उन्होंने पूरे मामले को सिर्फ आतंकवादी कहा.

हालांकि बढ़ते विवाद के बीच शिंदे कुछ देर बाद अपने बयान से पलट से गए. मीडिया की आड़ लेते उन्होंने कहा कि कई बार अखबारों में छपी रिपोर्टों के आधार पर ही उन्होंने यह बात कही. विवाद के बाद शिंदे ने 'हिंदू आतंकवाद' की जगह 'भगवा आतंकवाद' शब्द का प्रयोग किया.

वैसे यह हैरानी की बात है कि सरकार के मंत्री मीडिया को लेकर विरोधाभासी बातें कर रहे हैं. भारत के विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद कहते हैं कि सरकार पाकिस्तान के साथ हाल ही में नियंत्रण रेखा हुए विवाद को लेकर मीडिया की राष्ट्रवादी बहस से प्रभावित नहीं होगी. वहीं गृह मंत्री शिंदे मीडिया की रिपोर्टों से प्रभावित होकर हिंदू आतंकवाद जैसे शब्दों का प्रयोग करने की बात कह रहे हैं.

ओएसजे/एजेए (एपी, पीटीआई)

DW.COM