1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आडवाणी ने दिलाया भारत को एशियाड में पहला सोना

एशियाई खेलों के दूसरे दिन भारतीय टीम का माथा सोने की चमक से दमका. बिलियर्ड्स के सिंगल्स मुकाबले में म्यांमार के ओ ने थ्वे ओ को हराकर पंकज आडवाणी बने चैंपियन.

default

फाइनल की जंग में आडवाणी ने थ्वे को 3-2 से मात दी. इससे पहले आडवाणी ने म्यांमार के ही क्यूइस्ट ओ क्वे ओ को सेमीफाइनल में हराया था. आडवाणी ने पहली बार 2003 में चीन में हुए वर्ल्ड चैम्पियनशिप मुकाबले में जीत हासिल की थी. आडवाणी अकेले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने बिलियर्ड्स के टाइम और प्वाइंट दोनों फॉर्मेट में जीत हासिल की है. पहली बार उन्होंने यह कारनामा 2005 में किया और फिर 2008 में इसी कामयाबी को दोहरा भी दिया.

भारत की तरफ से दूसरे खिलाड़ियों में आलोक कुमार इंडोनेशिया के रिकी यांग को 7-4 से हराकर 8 बॉल पूल के सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं. 42 साल के आलोक अब चीनी ताइपे के कुओ पो शेंग से भिड़ेंगे.

आडवाणी के जीते सोने के साथ ही पदकों की तालिका में भारत चौथे नंबर पर पहुंच गया है. एक सोना और तीन चांदी समेत उसकी झोली में कुल 5 पदक हो गए हैं. सबसे ऊपर है चीन जिसने 24 स्वर्ण सहित कुल 45 पदक जीते हैं जबकि दक्षिण कोरिया 27 पदकों के साथ दूसरे नंबर पर है. कोरिया ने 10 स्वर्ण जीते हैं. सोने के छह पदकों समेत कुल 31 पदक लेकर जापान तीसरे नंबर पर है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links