1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

आज पूरी होगी दुनिया की सबसे लंबी सुरंग

स्विटजरलैंड के इंजीनियर दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाने के बेहद करीब पहुंच गए हैं. चट्टान के आखिरी टुकड़े को काटते ही 57 किलोमीटर लंबी सुरंग तैयार हो जाएगी. बर्फ से ढके पहाड़ों के अंदर तेज रफ्तार ट्रेनों दौड़ेंगी.

default

इंजीनियरों के मुताबिक चट्टान के एक आखिरी टुकड़े को भारी भरकम टनल बोरिंग मशीन से काटने का काम आखिरी चरण में है. स्विटजरलैंड के टीवी चैनलों पर इस पल का लाइव टेलीकास्ट किया जा रहा है. अधिकारियों के मुताबिक यूरोप के ज्यादातर देशों के परिवहन मंत्री ऐतिहासिक सुरंग को पूरा होते हुए देखेंगे.

35.4 मील यानी 57 किलोमीटर लंबी यह सुरंग रेल गाड़ियों के लिए बनाई गई है. इसे गोटहार्ड टनल का नाम दिया गया है. सुरंग यूरोप की सबसे ऊंचे एल्प्स पहाड़ों के अंदर ही अंदर बनाई गई है. इसकी मदद से जर्मनी शॉर्ट कट से इटली से जुज़ जाएगा. प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि 2017 से सुरंग में ट्रेनें 250 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ने लगेंगी. हर रोज 300 ट्रेनें सुरंग से गुजर सकेंगी.

14 साल से चल रही इस बड़ी परियोजना में अब तक 10 अरब डॉलर से ज्यादा खर्च हो चुके हैं. स्विटजरलैंड के परिवहन मंत्री मोरित्स लेउएनबर्गर कहते हैं, ''दुनिया की किसी भी दूसरी सुंरग की तुलना में गोटाहार्ड हमेशा ज्यादा आर्कषक रहेगी.'' गोटहार्ड प्रोजेक्ट से 2,500 लोग जुड़े रहे. निर्माण के दौरान हुई दुर्घटनाओं में आठ लोगों की मौत हुई. लेकिन फिलहाल प्रोजेक्ट से जुड़ा शख्स अपनी मेहनत का उजला छोर देखने के बेसब्री से इंतजार रहा है.

इससे पहले सबसे लंबी सुरंग बनाने का श्रेय जापान के पास था. जापान में संमदर के भीतर 53.8 किलोमीटर लंबी सुरंग है. यह होनशु और होकाएडो द्वीपों को जोड़ती है. इसके बाद यूरो टनल का नंबर आता है. 50 किलोमीटर लंबी यूरो टनल भी समुद्र के अंदर ही अंदर फ्रांस और ब्रिटेन को जोड़ती है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links