1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आज जारी होगी बेनज़ीर की हत्या पर जांच रिपोर्ट

भूतपूर्व पाकिस्तानी प्रधानमंत्री बेनज़ीर भुट्टो की हत्या की संयुक्त राष्ट्र जांच रिपोर्ट आज न्यूयार्क में जारी की जा रही है. रिपोर्ट मिलने के बाद संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून इसे पाकिस्तान सरकार को भेजेंगे

default

बेनज़ीर भुट्टो की 27 दिसम्बर 2007 को पाकिस्तान के छावनी नगर रावलपिंडी में एक चुनावी सभा के बाद एक हमले में हत्या कर दी गई थी. पाकिस्तान पीपल्स पार्टी की नेता के साथ और 20 लोग मारे गए थे.

भुट्टो के समर्थकों ने हत्या की पाकिस्तानी जांच पर संदेह व्यक्त किया था और संयुक्त राष्ट्र द्वारा जांच कराए जाने की मांग की थी. उन्होंने इस बात पर सवाल उठाए थे कि भुट्टो की हत्या गोली लगने से हुई या आत्मघाती बम धमाके में. उन्होंने दुर्घटनास्थल को मिनटों बाद ही पानी से साफ किए जाने के लिए भी अधिकारियों की आलोचना की थी.

Pakistan Ausschreitungen

हत्या के बाद हिंसा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून द्वारा नियुक्त एक जांचदल ने आत्मघाती हमले में बेनज़ीर भुट्टो की हत्या की 9 महीने तक जांच की. गुरुवार को दोपहर बाद यह रिपोर्ट पहले बान की मून को और उसके बाद सुरक्षा परिषद को सौंपी जाएगी. लगभग एक घंटे बाद(भारतीय समय के अनुसार सुबह 3 बजे)रिपोर्ट पत्रकारों को दी जाएगी.

बेनज़ीर की हत्या के बाद पाकिस्तान में हिंसा फैल गई थी. हालांकि किसी ने आत्मघाती हमले की ज़िम्मेदारी नहीं ली पाकिस्तानी तालिबान के एक नेता को हमले की योजना बनाने वाला समझा जाता है. हमले की जांच के लिए बान की मून ने जून 2009 में एक स्वतंत्र जांचदल का गठन किया जिसके मुखिया चिली के राजदूत हाराल्डो मूनोज़ थे. इंडोनेशिया के पूर्व कानून मंत्री मारज़ुकी दारुसमन और आयरलैंड के पुलिस अधिकारी पीटर फ़्रित्सजेराल्ड जांच दल के अन्य सदस्य थे.

संयुक्त राष्ट्र सूत्रों का कहना है कि न तो बान की मून को और न ही पाकिस्तान सरकार को रिपोर्ट के नतीज़ों की कोई जानकारी है. रिपोर्ट का प्रकाशन दो सप्ताह पहले 31 मार्च को होना था लेकिन पाकिस्तान सरकार के आग्रह पर इसे रोक दिया गया था. बान की मून ने इसके लिए कोई कारण नहीं बताया. पाकिस्तान ने पिछले सप्ताह कहा कि उसने देरी की मांग इसलिए की कि पूर्व अमेरिकी विदेशमंत्री कोंडोलीज़ा राइस, अफ़ग़ान राष्ट्रपति हामिद करज़ई और सउदी अरब से मिली जानकारियों को इसमें शामिल किया जा सके.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: राम यादव

संबंधित सामग्री