1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

आजादी के लड़ाकों के आग उगलते भाषण

भारत की आजादी की लड़ाई में अंग्रेजों से लड़ने का सबसे तीखा और घातक हथियार थे नेताओं के भाषण. उन भाषणों की धार का अनुभव अब एक एलबम में लिया जा सकता है.

default

इतिहासकार कहते हैं कि जब गांधी जी बोलते थे तो सुनने वाले मंत्रमुग्ध होकर सुनते थे. उन भाषणों में ऐसी आग थी कि 30 करोड़ लोग उनकी एक आवाज पर उनके पीछे पीछे चल पड़ते थे.

Mahatma Gandhi

इस वक्त भारत के ज्यादातर लोग ऐसे हैं जिन्होंने महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस या जवाहर लाल नेहरू के उन भाषणों की तपिश को महसूस नहीं किया. बस कभी कभार उनके अंश ही सुने हैं जो 15 अगस्त या 26 जनवरी को टीवी या रेडियो पर बजते हैं. वैसे अब उन्हें पूरा सुनना भी संभव है.

कोलकाता की कंपनी सारेगामा ने एक एलबम जारी किया है जिसमें स्वाधीनता संग्राम में अहम भूमिका निभाने वाले नेताओं के आग उगलते भाषण हैं.

दो सीडी के इस एलबम की पहली सीडी में महात्मा गांधी का वे भाषण हैं जो उन्होंने भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान दिए थे. इसके अलावा सुभाष चंद्र बोस का मशहूर भाषण जिसमें उन्होंने तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा का नारा दिया भी सुना जा सकता है. 15 अगस्त 1947 की रात संसद में जवाहर लाल नेहरू का दिया मशहूर भाषण ट्राइस्ट विद डेस्टिनी भी इस एलबम का हिस्सा है.

इसके अलावा पहली सीडी में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, राजीव गांधी समेत कांग्रेस के कई नेताओं के भाषण शामिल हैं. सोनिया गांधी और राहुल गांधी के भी कुछ भाषण इस सीडी में मौजूद हैं.

सीडी के दूसरे हिस्से में कविगुरु रवींद्र नाथ टैगोर के अलावा हिंदी और बांग्ला में गाए कई कवियों के देशभक्ति गीत शामिल किए गए हैं.

रिपोर्टः प्रभाकर,कोलकाता

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links