1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

आगे बढ़कर भी रक्षामंत्री गुटेनबैर्ग परेशान

जर्मन सेना में दो प्रकरणों के बाद रक्षा मंत्री गुटेनबैर्ग दबाव में हैं. नौसेना के जहाज गोर्च फोर्क में एक प्रशिक्षार्थी महिला सैनिक की मौत के बाद जहाज के कप्तान को पद से हटा दिया गया है, इसकी भी तेज आलोचना हो रही है.

default

संसद में भी हमले के निशाने पर

नौसेना के प्रशिक्षण जहाज गोर्च फोर्क की इस घटना के बाद उसकी जांच का आदेश दिया गया था, लेकिन राजनीतिक हलकों और मीडिया में रक्षा मंत्री कार्ल थेओडोर त्सू गुटेनबैर्ग की आलोचना जारी थी. कहा जा रहा था कि प्रशिक्षार्थी सैनिकों के साथ ज्यादती की जा रही है. देश के सर्वाधिक प्रचारित टैबलॉएड बिल्ड का शीर्षक था, कप्तान को तुरंत हटाओ. तुरंत कदम उठाने के दबाव के चलते रक्षा मंत्री ने जहाज के कमांडर नोर्बर्ट शात्ज को उनके पद से हटा दिया. शनिवार को उन्होंने घोषणा की कि उन्होंने आदेश दिया है कि कमांडर को उनके पद से हटा दिया जाए. इस जहाज पर प्रशिक्षण का काम बंद किया जा रहा है और दक्षिण अमेरिका के तट पर मौजूद जहाज को स्वदेश वापस लाया जा रहा है. साथ ही रक्षा मंत्री ने समूची सेना में बदसलूकी की घटनाओं की व्यापक जांच का आदेश दिया है.

जाहिर है कि सेना के अंदर रक्षा मंत्री के आदेश को पसंद नहीं किया गया है, और साथ ही, विपक्ष ने उनके तरीकों की तेज आलोचना की है. विपक्षी एसपीडी के रक्षा विशेषज्ञ राइनर आर्नोल्ड ने कहा है कि कमांडर से पूछताछ किए बिना ही उन्हें पद से हटा दिया गया है. 8 नवंबर को 25 वर्षीय महिला प्रशिक्षार्थी जेनी बी की मौत हुई थी. दिसंबर के आरंभ तक रक्षा मंत्रालय की ओर से कहा जा रहा था कि गोर्च फोर्क में सब कुछ ठीकठाक है. पिछले ही हफ्ते गुटेनबैर्ग ने संसद में कहा था कि मंत्रालय से मिली सूचनाओं से उन्हें कोई शिकायत नहीं है. विपक्ष पूछ रहा है कि पिछले चंद दिनों में ऐसी कौन सी नई घटना हुई है कि रक्षा मंत्री को आननफानन में जहाज के कमांडर को हटाना पड़ा है. रक्षा मंत्री का कोई वक्तव्य नहीं आया है, लेकिन जर्मन सेना के प्रमुख इंस्पेक्टर जनरल फोल्कर वीकर ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि आम तौर पर जांच के दौरान आरोपी को मुअत्तल किया जाता है. यह जांच से पहले सजा देना नहीं है.

इस बीच यह भी पता चला है कि नौसेना अफसर बनने के लिए प्रशिक्षण ले रही 25 साल की युवती जेनी की मौत के चार दिन बाद ही जहाज पर कार्नेवाल का जश्न मनाया गया था. साथ ही ऐसे आरोप भी आए हैं कि जहाज में महिला सैनिकों के साथ यौन दुर्व्यवहार की घटनाएं भी हुई हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उ भट्टाचार्य

संपादन: प्रिया एसेलबोर्न

DW.COM

WWW-Links