1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आईसीसी की सख्ती से पीसीबी में हरकत

आईसीसी ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को उसके खिलाड़ियों के व्यवहार पर लाल आंखें दिखाई है. पीसीबी ने खिलाड़ियों पर नजर रखने का वादा करते हुए छह सदस्यीय समिति बनाई. खिलाड़ियों के बचपन से जवानी तक के सफर की जांच होगी.

default

पाकिस्तान की क्रिकेट टीम कई वजहों से सुर्खियों में रहती है. आए दिन खिलाड़ियों के बीच चल रही तनातनी या फिक्सिंग जैसे विवादों को लेकर टीम खबरों में अपना स्थान बनाती है. एक को कप्तानी मिलती है, दो उसे हटाने के लिए आपस में मिल जाते हैं. फिर उनमें से एक कप्तान बनता और जोड़ तोड़ का खेल लगा रहता है. ऐसी परिस्थितियों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल को लगने लगा है कि पाकिस्तानी टीम के चलते क्रिकेट की छवि खराब हो रही है.

Pakistan Cricket Verband Ijaz Butt

पीसीबी अध्यक्ष एजाज बट

इसलिए आईसीसी ने पीसीबी को चेतावनी दी कि वह अपने खिलाड़ियों पर लगाम लगाए. इस चेतावनी के फौरन बाद शनिवार को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने जाकिर खान समेत छह सदस्यों की एक समिति बना दी. यह समिति टीम के हर खिलाड़ी पर नज़र रखेगी. खिलाड़ियों के आचरण और आपसी व्यवहार को भी पीसीबी अधिकारियों की नजरों से गुजरना होगा.

पीसीबी के मुताबिक यह कदम भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाया गया है. जाकिर खान ने कहा, ''यह समिति खिलाड़ियों की पृष्ठभूमि और अनुशासन के रिकॉर्ड चेक करेगी. घरेलू और राष्ट्रीय टीम में खेलने वाले सभी खिलाड़ी इसकी जद में होंगे.''

खान ने कहा कि समिति आईसीसी के सख्त लहजे के बाद बनाई गई है. कमेटी में पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट के निदेशक सुल्तान राणा, मुख्य चयनकर्ता मोहसिन खान और बोर्ड के सुरक्षा मामलों के प्रमुख वसीम अहमद और ख्वाजा नजम शामिल हैं. आईसीसी ने पीसीबी को भ्रष्टाचार के खिलाफ पुख्ता कदम उठाए जाने के लिए 30 दिन की मोहलत दी है.

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: एमजी

DW.COM

WWW-Links