1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आईसीसी की टेस्ट वर्ल्ड चैंपियनशिप

पारंपरिक क्रिकेट यानी टेस्ट मैचों के लिए चैंपियनशिप कराने की दिशा में आईसीसी ने कदम बढ़ाते हुए चार साल के टेस्ट लीग का प्रस्ताव रखा. साथ ही वनडे मुकाबले कम और ट्वेन्टी 20 को ज्यादा बढ़ावा देने का भी प्रस्ताव आया है.

default

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के प्रस्ताव के मुताबिक चार साल के लिए टेस्ट मैचों का कैलेंडर बनेगा और उनकी जीत हार का हिसाब रखा जाएगा. इसके बाद शीर्ष चार टीमों के बीच मुकाबला होगा. ऐसा पहला मुकाबला 2013 में प्रस्तावित किया गया है. उस साल इंग्लैंड में एशेज सीरीज होनी है और समझा जाता है कि फाइनल मुकाबले के लिए लॉर्ड्स के शानदार ग्राउंड को चुना जा सकता है.

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी हारून लोर्गाट ने कहा, "अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की पुनर्संरचना एक अहम चुनौती है और इसे पूरा करना होगा. मैं समिति का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने इस तरह का प्रस्ताव रखा है."

इसके अलावा आईसीसी की प्रमुख समिति ने वनडे मैचों के लिए भी एक लीग सिस्टम की बात कही है. इसके तहत 2011 में शुरू हो रहे चार साल के कैलेंडर के लेखे जोखे के मुताबिक 2014 में पहली वनडे लीग चैंपियनशिप खेली जा सकती है. यह लीग सिस्टम वनडे मैचों के वर्ल्ड कप से अलग होगा. लेकिन साथ ही वनडे के पर कतरे जाने का भी प्रस्ताव आ गया है. 2015 में होने वाले वर्ल्ड कप के लिए सिर्फ 10 टीमों को ही चुना जाएगा और इसके अलावा हर साल होने वाले वनडे मैचों की संख्या भी कम की जाएगी.

अगले साल 2011 में होने वाले वर्ल्ड कप के लिए 14 टीमों को रखा गया है, जो भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका में 19 फरवरी से दो अप्रैल तक खेला जाएगा. पिछली बार 2007 में वनडे वर्ल्ड कप में 16 टीमें शामिल की गई थीं और इसके लंबे कार्यक्रम की वजह से कई जगह इसकी आलोचना हुई थी.

ट्वेन्टी 20 की कामयाबी को देखते हुए 2012 वर्ल्ड कप से इसमें 16 टीमों को शामिल करने की योजना रखी गई है. तब श्रीलंका में वर्ल्ड कप खेला जाएगा. उसके साथ ही महिलाओं का टी 20 वर्ल्ड कप भी होगा. आईसीसी ने जल्द ही एक ट्वेन्टी 20 लीग बनाने का भी प्रस्ताव रखा है.

लोर्गाट का कहना है कि सभी तरह के खेलों में संतुलन बनाए रखना बहुत जरूरी है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः ए कुमार