1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

आईपैड ख़रीदने दुकानों पर टूट पड़ी भीड़

आईपैड के ग्लोबल लॉन्च के बाद यूरोप और एशिया में एपल कम्प्यूटरों के दीवाने आज दुकानों पर टूट पड़े. ऑस्ट्रेलिया और जापान के बाद जर्मनी, फ़्रांस और ब्रिटेन में भी एपल की दुकानें खुलने से पहले ही लंबी लाइनें लग गईं.

default

जापान के गिंज़ा में एपल शोरूम के सामने सुबह 8 बजे दुकान खुलने से पहले 1,200 लोग इकट्ठा हो गए थे. कतार 800 मीटर लंबी थी और दुकान खुलते ही एपल प्रेमियों ने चिल्लाकर उसका स्वागत किया.

अमेरिका में भारी मांग के कारण एपल ने आईपैड के ग्लोबल लॉन्च को दो दो बार टाल लिया था. आज पूरी दुनिया में उसकी बिक्री शुरू हो रही है. तख्ती जैसा दिखने वाला 25 सेंटीमीटर का आईपैड अमेरिका में अप्रैल में लॉन्च हुआ था और पहले 28 दिनों में 10 लाख उपकरणों की बिक्री हुई.

पैरिस के विश्व प्रसिद्ध लूव्रे म्यूजियम में स्थित एपल की दुकान में आईपैड की बिक्री हो रही है. 24 वर्षीया इंजीनियर आउड्रे सोबगू उसे ख़रीदने 205 किलोमीटर दूर अपने शहर लिल से आई थी और दो घंटे के इंतज़ार के बाद मन की मुराद पाने में सफल हुई. उसका कहना है कि वह प्रचार अभियान का शिकार नहीं हुई है.

जर्मनी में भी आईपैड की बिक्री शुरू हुई है. बर्लिन और म्यूनिख में एपल शोरूम के सामने सैकड़ों लोग जमा हो गए थे. कम्प्यूटर विशेषज्ञ यौर्ग शीब का कहना है कि आईपैड मुख्यतः कम्प्यूटर का विकल्प नहीं है बल्कि सर्फ करने, ईमेल भेजने और पाने तथा फिल्म देखने के लिए सुविधाजनक है. उपयोग में यह बड़े आईफ़ोन जैसा है लेकिन इसके ज़रिए फ़ोन करना संभव नहीं है.

जर्मनी में आईपैड 499 यूरो में उपलब्ध है और हर ग्राहक सिर्फ़ दो आईपैड ख़रीद सकता है. इस बीच कई जर्मन कंपनियां दफ़्तर में आईपैड का उपयोग शुरू करने पर विचार कर रही हैं. अलियांस बीमा कंपनी अपने बीमा एजेंटों को आईपैड मुहैया कराने की सोच रही है तो डाइम्लर के प्रवक्ता का कहना है कि नया उपकरण ग्राहकों के साथ संपर्क में नई संभावनाएं देता है.कार कंपनी बीएमडब्ल्यू भी ब्लैकबेरी के बदले आईफ़ोन का उपयोग करने की सोच रही है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ए कुमार

संबंधित सामग्री