1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आईपीएल विवाद: शाहरुख़ को नोटिस

आईपीएल विवाद में शाहरुख़ खान और राजस्थान रॉयल्स के प्रमोटरों को कारण बताओ नोटिस. कोलकाता नाइट राइडर्स के मालिक शाहरुख़ पर कंपनी अधिनियम के उल्लंघन का आरोप. समयसीमा के ख़त्म होने के बाद भी नहीं जमा की बैलेंस शीट.

default

शाहरुख़ खान और राजस्थान रॉयल्स के प्रमोटरों पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने सालाना रिर्टन का ब्यौरा नहीं दिया है. दोनों ने अपनी बैलेंस शीट भी नहीं दी है. इसके चलते रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज़ ने दोनों के ख़िलाफ़ नोटिस जारी किया है.

आरओसी विभाग का कहना है, ''नोटिस की अवधि ख़त्म होने के बाद इन कंपनियों और उनके डॉयरेक्टरों के ख़िलाफ़ आपराधिक मुक़दमा चलेगा.'' कंपनी मामलों के मंत्रालय को भी इसकी जानकारी दे दी गई है. कंपनी मामलों के मंत्रालय ने ही पिछले बुधवार को आरओसी को सभी आईपीएल फ्रैंचाइजी की जानकारी लेने के लिए कहा था. जानकारी में नीलामी प्रकिया और सहमति पत्र जैसी बातें भी पूछी गई थीं.

शाहरुख़ खान, उनकी पत्नी गौरी खान, जूही चावला, जय मेहता और देशराज चावला कोलकाता नाइटराइडर्स के मालिक हैं. शाहरुख़ की कंपनी रेड चिलीज़ इंटरटेंमेंट की टीम में 55 फ़ीसदी भागीदारी है. कोलकाता टीम के मालिकों पर यह भी आरोप हैं कि उन्होंने सिंतबर 2008 से सितंबर 2009 के बीच का सालाना रिटर्न जमा नहीं किया है. इसके अलावा 2006-07 की बैलेंस शीट भी नहीं दी गई है.

कंपनी अधिनियम 1956 के तहत हर कंपनी को हर साल ऑडिंटिंग कराकर अपने रिर्टन और बैलेंस शीट की जानकारी सार्वजनिक करनी पड़ती है. ऑडिटिंग सीए की मदद से की जाती हैं और फिर ज़्यादातर कंपनियां अख़बारों के ज़रिए बैलेंस शीट सार्वजनिक करती हैं.

राजस्थान रॉयल्स के डायरेक्टर रवींद्रनाथ बारथुकार और रघुराम नटराज को भी ऐसा ही नोटिस भेजा गया है. कारण बताओ नोटिस का जबाव 15 दिनों के भीतर देना है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री