1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आईपीएल विवाद: देश भर में छापे

आयकर विभाग ने कोलकाता नाइट राइडर्स के दफ्तर और शाहरुख खान और जूही चावला की कंपनी रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट की तलाशी ली है. मैच टेलीकास्ट कर रही मल्टी स्क्रीन मीडिया और वर्ल्ड स्पोर्ट्स ग्रुप भी आयकर विभाग का निशाना बने.

default

आयकर विभाग के अफ़सरों ने वित्तीय अनियमितताओं के सिलसिले में कोलकाता नाइट राइडर्स और बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के दफ्तरों पर छापा मारा है. साथ ही शाहरुख खान और जूही चावला कि कंपनी रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट पर भी छापे पड़े हैं. कोलकाता नाइट राइडर्स रेड चिलीज़ की कंपनी है. नाइट राइडर्स के मामलों को संभाल रही कंपनी गेमप्लान के भी दफ्तरों पर छापे लगाए गए.

बुधवार सुबह को आयकर अफ़सर मुंबई के मलाड इलाके में मल्टी स्क्रीन मीडिया एमएसएम के दफ्तर पहुंचे. साथ ही वर्ल्ड स्पोर्ट्स ग्रुप, मैचों के आयोजन की देखरेख कर रहे इंटरनेशनल मैनेजमेंट ग्रुप और वर्ल्ड स्पोर्ट्स ग्रुप के प्रमुख वेणू नायर के बांद्रा घर की भी तलाशी ली गई. आयकर विभाग के 20 अफ़सर छापे में हिस्सा ले रहे हैं.

एमएसएम पहले सोनी एंटरटेनमेंट का हिस्सा रह चुका है. माना जा रहा है कि 'फेसिलिटेशन फीस' का हवाला देते हुए वर्ल्ड स्पोर्ट्स ग्रुप को यह पैसे दिए गए.

आईपीएल प्रमुख ललित मोदी आयकर विभाग की निगरानी में हैं तो आईपीएल टीमों के मालिक मुश्किल वक़्त में मोदी का साथ दे रहे हैं. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक आयकर विभाग को अपनी तलाशी के दौरान पता चला कि मोदी के पास आईपीएल के सारी टीमों की हिस्सेदारी है.

Indien Cricket Lalit Modi

मुश्किल में मोदी

राजस्थान रॉयल्स की एक मालिक शिल्पा शेट्टी का कहना है, "मैं ललित का साथ दे रही हूं क्योंकि वे आईपीएल का हिस्सा हैं...ललित की वजह से ही आईपीएल बना है. अगर पर्दे के पीछे कुछ ग़लत हो रहा है तो मुझे उसके बारे में कुछ नहीं पता." शेट्टी का कहना है कि इन हालात में क़ानून के हवाले सब कुछ है, लेकिन लोगों को गलत निष्कर्ष नहीं निकालने चाहिए.

शेट्टी के अलावा पाकिस्तान के ट्वेंटी 20 कप्तान शाहिद अफ़रीदी भी मोदी का पक्ष ले रहे हैं. उनका मानना है कि अगर मोदी आईपीएल से बाहर हो जाते हैं तो आईपीएल को नुकसान होगा. सोचने वाली बात है कि इस बार आईपीएल खिलाड़ियों की बोली के दौरान पाकिस्तान के खिलाड़ियों पर बोली नहीं लगी थी. अफ़रीदी ने इसे लेकर अपनी नाराज़गी तो व्यक़्त की है लेकिन वह मानते हैं कि खेल के ज़रिए भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों को सुधारा जा सकता है.

रिपोर्टः पीटीआई/ एम गोपालकृष्णन

संपादनः आभा मोंढे

संबंधित सामग्री