1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आईपीएल नीलामी में पारदर्शिता चाहते हैं माल्या

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के मालिक विजय माल्या ने आईपीएल के लिए नीलामी में पारदर्शिता लाने और सबको साथ लेकर चलने पर जोर दिया. आईपीएल-4 में मुंबई इंडियंस ने नीलामी में धांधली के आरोप लगाए. माल्या मुंबई इंडियंस के समर्थन में.

default

मुंबई इंडियंस ने आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल को एक खत लिखा है जिसमें पूछा गया है कि नीलामी प्रक्रिया में फेरबदल क्यों किया गया. मुंबई का समर्थन कर रहे माल्या ने भारत के न्यूज चैनल टाइम्स नाओ को बताया, "मैं मुंबई इंडियंस के खत में उठाई गई बातों से सहमत हूं. आईपीएल नीलामी में सभी फ्रेंचाइजी को एक साथ लेकर चलने की जरूरत है और पारदर्शिता बरती जानी चाहिए. फ्रेंचाइजी का आईपीएल में काफी कुछ दांव पर लगा है. इसलिए नीतिगत मामलों में आईपीएल टीमों के प्रबंधन को भरोसे में लिया जाना चाहिए."

मुंबई इंडियंस ने नीलामी प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि खिलाड़ियों को अलग अलग समूहों में कैसे और क्यों बांटा गया और विजय माल्या मुंबई के रुख से सहमत हैं. उन्होंने उम्मीद जताई कि आईपीएल गवर्निंग काउंसिल मुंबई इंडियंस के खत का जवाब देगी. रिलायंस इंडस्ट्रीज के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर निखिल मेसवानी ने खत में लिखा है कि नीलामी प्रक्रिया में आखिरी क्षणों में किए गए फेरबदल को किसी भी तरह से सही नहीं ठहराया जा सकता.

आईपीएल-4 के लिए नीलामी 8-9 जनवरी को हुई जबकि आईपीएल फ्रेंचाइजी को नियमों में फेरबदल की जानकारी सिर्फ एक दिन पहले 7 जनवरी को दी गई.

इसके तहत खिलाड़ियों को एक खास क्रम में नीलामी के लिए पेश किया गया जबकि पहले तय हुआ था कि उनके लिए बोली बिना किसी क्रम के लगेगी. आईपीएल के निलंबित चेयरमैन ललित मोदी ने भी नियमों में फेरबदल पर सवाल उठाए हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: एमजी

DW.COM

WWW-Links