1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

आईपीएल नीलामी में कालिस पर नजर

आईपीएल 4 की नीलामी बैंगलोर में हो रही है और टीमों की नजरें मौजूदा वक्त के क्रिकेट बादशाह जैक कालिस पर होंगी. कालिस जबरदस्त फॉर्म में हैं और उपलब्ध सबसे बड़े सितारों में शामिल. इस बार भी पाकिस्तानी खिलाड़ी बाजार में नहीं.

default

कालिस पर निगाहें

आईपीएल में भारी विवादों के बाद पहली बार क्रिकेटरों की बोली लगाई जा रही है और जाहिर है कि तीन टेस्ट मैचों में करीब 500 रन बनाने वाले दक्षिण अफ्रीका के जैक कालिस के नाम पर सबकी नजरें होंगी. टेस्ट मैचों में 40 शतक बना चुके कालिस ने अपने दम पर केपटाउन टेस्ट में भारत की जीत में अड़ंगा लगा दिया. इस मैच की दोनों पारियों में उन्होंने शतक ठोंके और मैन ऑफ द सीरीज चुने गए.

हालांकि ट्वेंटी 20 क्रिकेट का अलग अंदाज होता है, फिर भी कालिस सबसे महंगे खिलाड़ियों की सूची में शामिल हैं. टेस्ट क्रिकेट में 40 शतक बनाने वाले इस खिलाड़ी को कई लोग मौजूदा दौर में सचिन के बाद सबसे बड़े खिलाड़ियों में गिनता है. वह एक शानदार गेंदबाज भी हैं. कालिस के अलावा ब्रायन लारा पर भी नजरें होंगी, जो इस साल आईपीएल में इंट्री करने वाले हैं.

Laureus World Sports Award in Abu Dhabi 2010

लारा पहली बार

लगातार तीसरी बार पाकिस्तान के खिलाड़ी आईपीएल के हिस्सा नहीं बनेंगे. पिछले साल वे बोली में उपलब्ध तो थे लेकिन किसी टीम ने उन पर दांव नहीं लगाया. इस बार उनकी बोली ही नहीं लगाई जाएगी.

भारतीय क्रिकेट बोर्ड के लिए पैसों की मशीन बन चुका आईपीएल इस साल आठ अप्रैल से शुरू हो रहा है. इसमें इस बार 10 टीमें होंगी और कुल 74 मैच खेले जाएंगे. इसकी शुरुआत वनडे वर्ल्ड कप से ठीक छह दिन बाद हो रही है. वर्ल्ड कप भी भारतीय उप महाद्वीप में ही खेला जा रहा है.

हालांकि 2008 में शुरू होने के बाद से ही आईपीएल विवादों में रहा है लेकिन पिछले साल इसके विवाद काफी बढ़ गए और इसके कमिश्नर ललित मोदी को कुर्सी गंवानी पड़ी. इतना ही नहीं, पंजाब और राजस्थान की टीमें कानूनी दांव पेंच में फंसी हैं और उनका बीसीसीआई के साथ मुकदमा चल रहा है.

सुरक्षा कारणों का हवाला देकर मोदी ब्रिटेन में रह रहे हैं. उन पर अपने करीबियों और रिश्तेदारों को गलत तरीके से मदद पहुंचाने का आरोप है. वह जबरदस्त वित्तीय आरोपों से भी घिरे हैं और उनके खिलाफ बीसीसीआई में केस चल रहा है.

इसके अलावा दो नई टीमें आईपीएल का हिस्सा बनी हैं और इनमें से एक कोच्ची की टीम भी भारी विवादों में घिरी है. अभी हाल ही में उनका संकट तब खत्म हुआ, जब उन्होंने मालिकाना हक को लेकर समझौता कर लिया. बीसीसीआई धमकी दे चुका था कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो उन्हें आईपीएल में खेलने नहीं दिया जाएगा.

दरअसल खिलाड़ियों की नीलामी पिछले साल नवंबर में ही होनी थी लेकिन इन्हीं विवादों की वजह से इसे जनवरी तक के लिए टाल दिया गया.

वेस्ट इंडीज के महान बल्लेबाज ब्रायन लारा और इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन को शीर्ष वर्ग में रखा गया है और उनके लिए तीन साल के लिए चार लाख डॉलर की आरक्षित राशि है. उनके अलावा ऑस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट, ब्रेट ली, इंग्लैंड के केविन पीटरसन, दक्षिण अफ्रीका के ग्रेम स्मिथ और जैक कालिस भी इसी वर्ग में हैं.

Mitchell Johnson

नहीं होंगे मिचेल जॉनसन

वैसे टीमों ने कुछ खिलाड़ियों को अपने पास बनाए रखा है और उनकी नीलामी नहीं हो रही है. इनमें चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और मुंबई के कप्तान सचिन तेंदुलकर शामिल हैं. राजस्थान रॉयल्स ने शेन वॉर्न और शेन वॉटसन को अपनी टीम में ही रखने का फैसला किया है.

चेन्नई और मुंबई इंडियंस ने पांच पांच खिलाड़ियों को अपने पास रखने का फैसला किया है. इसकी वजह से नए खिलाड़ियों के लिए उन्हें अब सिर्फ 45 लाख डॉलर खर्च करने की अनुमति है. राजस्थान रॉयल्स के पास 59 लाख डॉलर और दिल्ली डेयर डेविल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के पास 72-72 लाख डॉलर हैं.

यह लगातार तीसरा मौका होगा, जब पाकिस्तान के खिलाड़ी आईपीएल में नहीं दिखेंगे. मुंबई में 26/11 के आतंकवादी हमलों के बाद 2009 में उन्हें खेल में शामिल नहीं किया गया, जबकि पिछले साल किसी ने उनकी बोली ही नहीं लगाई. इस बार भी उनके नाम नदारद हैं.

रिकी पोंटिंग, माइकल क्लार्क और मिचेल जॉनसन ने इस साल आईपीएल से दूर रहने का फैसला किया है और वे आराम करेंगे. अनिल कुंबले ने हाल ही में क्रिकेट से पूरी तरह संन्यास ले लिया और अब वह बैंगलोर टीम के मुख्य मेंटर बन गए हैं.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links