1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आईपीएल के बाद गोल्फ लीग

लीग क्रिकेट में सिक्का जमाने के बाद भारतीय आयोजक कुछ ऐसा ही गोल्फ के साथ करना चाहते हैं. इसमें घरेलू खिलाड़ियों के अलावा अमेरिका तक के बड़े सितारे हिस्सा ले सकते हैं.

नई योजना के मुताबिक आठ टीमें बनाई जाएंगी और हर टीम में चार खिलाड़ी होंगे. सभी खिलाड़ियों की बोली लगेगी और यह काम आठ से 10 फरवरी के बीच पुणे में किया जाएगा.

भारत में आईपीएल पांचवें साल में प्रवेश कर गया है और हर बीतते साल के बाद इसकी लोकप्रियता और पैसा भी बढ़ा है. इसकी वजह से अंतरराष्ट्रीय कंपनियों की नजर भारत की ओर गई हैं और गोल्फ प्रतियोगिता इसी कड़ी का हिस्सा है.

गोल्फ टूर्नामेंट में 2005 के अमेरिकी ओपन चैंपियन माइकल कैंपबेल भी शामिल हो रहे हैं, जिनकी बिक्री 61,000 डॉलर में हुई है. दो बार के मेजर विजेता एंजेल काब्रेरा और ब्रिटिश ओपन जीतने वाले डैरेन क्लार्क भी 55-55 हजार डॉलर में बिके हैं. इनके अलावा टूर्नामेंट में 2002 के पीजीए चैंपियन रिच बीम, 2003 के शॉन मिशेल और 2012 के एशिया टूर के थाई गोल्फर थावोर्न विराटशांट शामिल हैं.

स्थानीय खिलाड़ी शिव कपूर ने इस पूरे टूर्नामेंट का प्रारूप तैयार किया है और उनका कहना है, "फॉर्मैट को आकर्षक बनाया गया है ताकि सभी लोगों को पसंद आए. क्रिकेट में भले ही टेस्ट क्रिकेट बिलकुल शुद्ध माना जाता है लेकिन आईपीएल के ट्वेन्टी 20 क्रिकेट को लोगों की दिलचस्पी के मुताबिक ढाला गया है. यह रात में खेला जाता है और इसकी तेजी इसमें ग्लैमर पैदा करती है." 2004 से पेशेवर गोल्फ खेल रहे कपूर ने 2005 का एशिया टूर जीता था.

आईपीएल की कामयाबी के बाद हॉकी, बैडमिंटन, टेनिस और वॉलीबॉल जैसे खेलों के भी लीग मुकाबले शुरू हो चुके हैं. हालांकि आईपीएल पर ये भी आरोप लगते हैं कि वह खेल की परंपरा को मार रहा है और खिलाड़ी पैसे कमाने पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं.

हालांकि कपूर का कहना है कि गोल्फ प्रीमियर लीग (जीपीएल) में खेल के साथ समझौता नहीं किया जाएगा, "हम हर दिन तीन घंटे में 14 होल का कोर्स पूरा करेंगे. मैं आपको बताता हूं कि यह 6-7 होल वाला मिकी माउस गोल्फ नहीं है."

कपूर का कहना है कि फ्रेंचाइज होने की वजह से भारत में स्पांसरों की संख्या भी बढ़ेगी. उनका कहना है कि जयपुर में दोस्त की शादी में जाते वक्त उन्हें गोल्फ की कामयाबी के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला, "मैंने वहां एक खेत में गोल्फ बॉल को मारना शुरू किया और कुछ ही समय में 30 लड़के जमा हो गए, जो मुझसे पूछ रहे थे कि मैं लोहे की हॉकी स्टिक के साथ क्या कर रहा हूं." कपूर का कहना है कि उन्हें इस बात का विश्वास है कि भारत में गोल्फ के कई खिलाड़ी सामने आ सकते हैं.

क्लार्क ने इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने की पुष्टि कर दी है और उनका कहना है कि वे इसे लेकर काफी उत्साहित हैं.

एजेए/एएम (एपी)

DW.COM

WWW-Links