1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

आईपीएल के बाद अब वर्ल्ड कप पर निगाहें

आईपीएल 3 ख़त्म होने के बाद भारतीय टीम की नज़र वेस्ट इंडीज़ में होने वाले ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप पर है. पहला ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप जीतने के बाद दूसरे वर्ल्ड कप में ख़राब रहा था प्रदर्शन. कड़वी याद को जीत से भुलाना चाहेगी टीम.

default

महेंद्र सिंह धोनी

30 अप्रैल से वर्ल्ड कप शुरू हो रहा है लेकिन भारत को पहले ही झटका लग गया है. सचिन तेंदुलकर ने ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप में खेलने से इनकार किया है जबकि वीरेंद्र सहवाग कंधे में चोट की वजह से टीम से बाहर हो गए हैं. ऐसे में भारत के सामने सबसे बड़ी चुनौती अपनी बल्लेबाज़ी में मज़बूती लाने की होगी. तेंदुलकर और सहवाग की ग़ैरमौजूदगी में बल्लेबाज़ी का दारोमदार धोनी, गंभीर, रैना और युवराज सिंह पर आ गया है.

पिछले साल इंग्लैंड में खेले गए टूर्नामेंट में भारत के प्रशंसकों को बेहद निराशा हुई थी क्योंकि टीम सेमीफ़ाइनल में जगह बनाने में नाकाम रही थी. आईपीएल लीग ख़त्म होने के कुछ ही दिन बाद भारतीय टीम ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप के लिए इंग्लैंड पहुंची थी. कोच गैरी कर्स्टन ने टीम इंडिया के ख़राब प्रदर्शन के लिए थकान को ज़िम्मेदार ठहराया था.

Der indische Cricketstar Sachin Tendulkar

नहीं दिखेगा तेंदुलकर का जलवा

इस बार भी स्थिति कमोबेश वैसी ही है. क़रीब डेढ़ महीने तक भारत के स्टार खिलाड़ियों ने लगातार क्रिकेट खेली है और वर्ल्ड कप शुरू होने से पांच दिन पहले ही आईपीएल लीग ख़त्म हुई है. हालांकि भारतीय टीम की कमान संभालने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने थकान के चलते प्रदर्शन प्रभावित होने की आशंका को ख़ारिज करने की कोशिश की है.

"हम ट्वेंटी20 में पूरी तरह तैयार होकर जा रहे हैं, भले ही हमें तरोताज़ा होने का समय नहीं मिल पाया हो. पेशेवर खिलाड़ी होने के नाते हम हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करते हैं. विफलता के लिए कोई बहाना नहीं बनाया जा सकता."

भारत के लिए ज़हीर ख़ान, प्रवीण कुमार और आशीष नेहरा तेज़ गेंदबाज़ी की कमान संभालेंगे जबकि स्पिन की ज़िम्मेदारी हरभजन और रवींद्र जडेजा के पास होगी. वैसे भारत के लिए टूर्नामेंट के दूसरे दौर यानि सुपर 8 में पहुंचना मुश्किल नहीं होगा. पहली बार खेल रही अफ़ग़ानिस्तान के साथ दक्षिण अफ़्रीका भी भारत के ग्रुप में है और टॉप 2 टीमें अगले दौर में पहुंचेंगी.
2007 में वेस्ट इंडीज़ में ही 50-50 ओवर का वर्ल्ड कप हुआ जिसमें भारत पहले ही राउंड में बाहर हो गया था. ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप की मेज़बानी वेस्ट इंडीज़ कर रहा है और भारत विंडीज़ में अपने उस प्रदर्शन को भुलाने में कोई क़सर नहीं छोड़ेगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: महेश झा

संबंधित सामग्री