1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

आईपीएल कांड: अब पवार और पटेल के नाम भी

आईपीएल में फ्रैंचाइजी कंपनियों के बाद थरूर के अलावा दूसरे नेताओं के नाम भी जुड़ रहे हैं. हालांकि अभी सीधे तौर पर कुछ सामने नहीं आया है, लेकिन शरद पवार की बेटी और सासंद सुप्रिया सुले ने प्रफुल्ल पटेल का बचाव किया है

default

पवार आईसीसी प्रमुख बनने वाले हैं

गुरुवार को नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल और शशि थरूर को लोकसभा में लंबी बातचीत करते देखा गया. संसद के सत्र के दौरान दोनों पास बैठ कर बातें करते देखे गए. प्रफुल्ल पटेल का नाम भी आईपीएल कांड में जुड़ गया है. दो दिन पहले पटेल ने कहा था कि उनका आईपीएल में नाम आना ग़लत है, उन्होंने कुछ नहीं किया है.

Minister und Präsident der Indischen Fußball Federation Praful Patel

प्रफुल्ल पटेल

हालांकि गुरुवार को सामने आया कि पटेल की निजी सचिव ने नई फ्रैंचाइज़ी के मूल्यांकन को लेकर शशि थरूर को एक इमेल भेजा था. पटेल की बेटी पूर्णा पटेल आईपीएल के लिए काम कर रही है. स्वयं प्रफुल्ल पटेल पिछले साल से अखिल भारतीय फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन के अध्यक्ष हैं.

उधर नैशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी ने शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल के इस्तीफ़े की संभावना से इनकार कर दिया है और आईपीएल की वित्तीय अनियमितता में उनके या उनके परिवार के शामिल होने से भी इनकार किया है. पार्टी प्रवक्ता डीपी त्रिपाठी का कहना है कि ईमेल भेजने के लिए पटेल के निजी कार्यालय के इस्तेमाल में उन्हें कोई मुश्किल दिखाई नहीं देती.

Die indischen Schauspieler Shah Rukh Khan und Preity Zinta

सितारों, ग्लैमर और धन का खेल

भारतीय मीडिया में शरद पवार के दामाद सदानंद सुले और कांग्रेस की सांसद सुप्रिया सुले की मल्टी स्क्रीन मीडिया में दस फ़ीसदी की हिस्सेदारी की रिपोर्टें छपी हैं. पहले सोनी एन्टरटेनमेन्ट टीवी के नाम से जानी जाने वाली इस कंपनी पर भी आयकर अधिकारियों ने छापा मारा है. त्रिपाठी का कहा है कि सदानंद का इस कंपनी में कोई शेयर नहीं है, हालांकि वे आईपीएल की शुरुआत से भी पहले से सोनी टीवी से जुड़े हुए थे. उधर सुप्रिया सुले ने प्रफुल्ल पटेल की बेटी पूर्णा पटेल का भी बचाव किया है. पूर्णा आईपीएल में काम करती हैं.

इस बीच खेल मंत्री एम. एस. गिल ने आईपीएल के सिलसिले में बीसीसीआई की कड़ी आलोचना की है. गिल ने संसद में बोलते हुए कहा कि आईपीएल के आयोजन पर सरकार भी खर्च करती है, लेकिन उसे पर्याप्त टैक्स नहीं मिल रहा है. उन्होंने आईपीएल से लिए जा रहे टैक्स की समीक्षा करते हुए मांग की कि बीसीसीआ का भी नियमन होना चाहिए.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा मोंढे

संपादनः महेश झा

संबंधित सामग्री