1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

अहम मुकाबले से पहले कई जर्मन खिलाड़ी चोटिल

रविवार को जर्मनी और इंगलैंड के बीच नॉक आउट दौर का मैच होना है. इसके बाद विश्व कप से एक टीम को वापस जाना होगा. तूफ़ान से पहले की ख़ामोशी में चहक रहे हैं जर्मनी और इंग्लैंड के अखबार. प्रशंसकों में बेसब्री और रोमांच.

default

इस खेल में जर्मनी के फ़ॉरवर्ड काकाउ भाग नहीं ले पाएंगे. जर्मन फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन की ओर से कहा गया है कि पेट की मांसपेशी में तनाव की वजह से इस मैच में काकाउ नहीं खेलेंगे. फ़ेडरेशन की वेबसाइट में मैनेजर ओलिवर बीयरहोफ़ ने लिखा है कि सारी कोशिशें की जा रही हैं कि वह उसके बाद के मैच में खेल पाएं. लेकिन यह तभी संभव होगा अगर जर्मनी यह मैच जीत पाती है.

Deutsche Nationalmannschaft vor dem Australienspiel

काकाउ के अलावा जर्मन टीम के और दो खिलाड़ी, बास्तियान श्वाइनश्टाइगर और जेरोमे बोआतेंग चोटिल हो गए हैं. उम्मीद की जा रही है कि आज शनिवार को होने वाले फ़िटनेस टेस्ट में वे खरे उतरेंगे. बीयरहोफ़ का कहना था कि उनकी चोट का मुआयना होने के बाद ही तय किया जाएगा कि वे ट्रेनिंग में भाग लेते हैं या नहीं.

इस बीच दोनों देशों के अखबारों में मुकाबले का माहौल तैयार करने की होड़ लग गई है. जर्मन टैबलॉयड बिल्ड के शनिवार के अंक में घोषणा की गई है कि उसके आज के अंक में कहीं कोई अंग्रेज़ी शब्द नहीं है, जबकि डेली स्टार की सुर्खी है कि यह जंग है.

लेकिन कुल मिलाकर मीडिया में भी खेल को खेल के तौर पर लिया जा रहा है. जर्मन कोच योआखिम ल्योव का कहना है कि यह स्वाभाविक है. आख़िरकार यह 2010 है. गार्डियन समाचार पत्र ने अपने अंक में कुछ टैबलॉयडों के अंधराष्ट्रवादी रुख़ की कड़ी आलोचना की है.

रिपोर्ट: उज्ज्वल भट्टाचार्य

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री