1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

अस्पतालों में रोगाणु से लड़ेगा तांबा

अस्पतालों में तरह तरह के रोगाणु होते हैं. रोगाणु फैलने का सबसे आम जरिया दरवाजों के हैंडिल होते हैं. अब एक क्लीनिक ने इसका इलाज ढूंढ निकाला है.

बैक्टीरिया को कई गुणा बढ़ाने में अस्पतालों में दरवाजों के हैंडिलों का बड़ा योगदान होता है. रोजाना इन हैंडिलों का इस्तेमाल हजारों बार होता है और नियमित सफाई भी मददगार साबित नहीं होती. कुछ रोगाणु उन पर तेजी से प्रजनन करते हैं. इस समस्या ने हैम्बर्ग में आस्क्लेपियोस क्लीनिक का ध्यान अपनी तरफ खींचा. क्लीनिक ने एक प्रोजेक्ट की शुरुआत की जिसके तहत दरवाजों के हत्थे तांबे के विकल्प के साथ बदलने शुरू किए गए. परीक्षण के नतीजे आश्चर्यजनक थे. स्टील या कृत्रिम सामग्री की तुलना में तांबे ने रोगाणुओं को 50 फीसदी कम कर दिया.

क्लीनिक के प्रयोगशाला की प्रमुख सुजाने हागेट के मुताबिक, "हम यह निर्धारित करने में सफल रहे कि तांबे के हैंडिल में कम रोगाणु मिल रहे थे." जर्मनी में सालाना चार लाख से छह लाख मरीज अस्पतालों में खतरनाक बैक्टीरिया से संक्रमित होते हैं. यह घावों को प्रभावित कर सकता है या यहां तक की निमोनिया भी हो सकता है. हर साल लगभग 15,000 मरीजों की मौत अस्पतालों में होने वाले संक्रमण के कारण होती है.

क्यों फायदेमंद है तांबा?

यह धातु जीवाणुरोधी है. इस तथ्य को क्लीनिक ने जर्मनी की कॉपर एलायंस के सहयोग से 2008 और 2009 में साबित कर दिया. जिन हैंडिलों में 70 फीसदी तांबे का इस्तेमाल किया गया है उसमें बैक्टीरिया, वायरस और फफूंद का स्तर कम पाया गया. यह न सिर्फ अस्पतालों के क्लीनिकल एरिया के लिए अहम है बल्कि अधिक संवेदनशील इंटेंसिव केयर यूनिट (आईसीयू) के लिए भी. क्लीनिक ने अपने नए ब्लॉक में करीब 600 दरवाजों पर तांबे के हैंडिल लगाए हैं. इस कारण यह यूरोप या अमेरिका में सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है.

तांबे के साज सामान का सतही नुकसान भी होता है. वे सफाई के तुरंत बाद भी अक्सर गंदे नजर आते हैं. प्रयोगशाला की निदेशक साथ ही कहती हैं कि जंग लगे तांबे का हरा रंग छतों और अन्य जगहों पर खूबसूरत लग सकता है लेकिन हरा हत्था गंदे क्लीनिक का प्रभाव छोड़ सकता है. अब क्लीनिक नए तरह के हैंडिलों का इस्तेमाल कर रहा है जो अलग तरह के तांबे के मिश्रधातु से बने होते हैं.

दूसरी मुश्किल ये है कि तांबे का हैंडिल उच्च गुणवत्ता वाले स्टेनलेस स्टील से 50 फीसदी अधिक महंगा है. अभी दरवाजे पर तांबे के हैंडिलों का इस्तेमाल शुरूआत भर है. आगे यह विचार व्हील चेयर के पुर्जों, बिस्तरों को ऊपर नीचे करने में इस्तेमाल होने वाले लीवर, और डोर बटन में हो भी हो सकता है.

DW.COM

संबंधित सामग्री