1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

'असांज को नोबेल पुरस्कार मिले'

ऑस्ट्रेलिया की कई बड़ी हस्तियां विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के समर्थन में उतर आई हैं. रूस में भी असांज का जोरदार समर्थन हो रहा है. रूसी अधिकारियों ने असांज को नोबेल पुरस्कार देने की हिमायत की है.

default

भारत के डॉक्टर मोहम्मद हनीफ को आतंकवाद के झूठे आरोपों से बरी करवाने वाले ऑस्ट्रेलियाई वकील पीटर रुसो अब खुलकर असांज के समर्थन में आ गए हैं. शुक्रवार को ब्रिसबेन में असांज के समर्थन में एक बड़ी रैली हो रही है. रूसो ने कहा कि वह इस रैली में हिस्सा लेंगे. उनके साथ ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सांसद एंड्र्यू बारलेट भी होंगे. प्रदर्शन ऑस्ट्रेलियाई विदेश और व्यापार विभाग के सामने होगा. असांज समर्थक ऑस्ट्रेलियाई सरकार पर भी अपने नागरिक की मदद करने का दवाब डाल रहे हैं.

Australien / Rudd / Canberra

खुलासे के लिए अमेरिका जिम्मेदार: ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज ऑस्ट्रेलियाई नागरिक हैं. अपनी वेबसाइट के जरिए उन्होंने अमेरिकी सरकार और विभागों की लाखों पन्नों की गोपनीय जानकारियां सार्वजनिक कर दी हैं. हालिया खुलासे के बाद असांज को ब्रिटेन में गिरफ्तार कर लिया गया. उन्हें सात दिन की हिरासत में भेजा गया है. स्वीडन में उन पर बलात्कार और असुरक्षित यौन संबंध बनाने के आरोप हैं.

कई देशों के लोग असांज की गिरफ्तारी को साजिश बता रहे हैं. रूसी समाचार एजेंसी ने आरआईए नोवोस्ती ने एक उच्च रूसी अधिकारी के हवाले से लिखा है कि असांज को नोबेल पुरस्कार मिलना चाहिए. क्रैमलिन अधिकारी ने कहा, ''गैर सरकारी और सरकारी संस्थाओं को इस बारे में सोचना चाहिए कि असांज की मदद कैसे की जा सकती है. और हां, उन्हें नोबेल पुरस्कार दिया जाना चाहिए.''

रूस और ऑस्ट्रेलिया के अलावा फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स भी लाखों लोग असांज के समर्थन में उतर आए हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा एम


DW.COM

WWW-Links