1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

असल जिन्दगी को पूछता बॉलीवुड

हमेशा से देखा गया है कि रीयल लाइफ को जब रील लाइफ में उतारा जाता है, तो यह डेडली कॉम्बिनेशन होता है. हिंदी फिल्मों में यह चलन अचानक बढ़ गया है. अंडरवर्ल्ड और पुराने स्टार इन दिनों रुपहले पर्दे पर धूम मचाने को तैयार हैं.

default

अजय बने हैं हाजी मस्तान

बड़े बड़े बाल और उससे भी बड़ी मूंछों वाले हीरो आम तौर पर ज्यादा पसंद नहीं किए जाते. लेकिन जब बात अंडरवर्ल्ड सरगना रह चुके हाजी मस्तान की हो, तो मामला जरा अलग होता है. 1970 के दशक में अंडरवर्ल्ड की लड़ाई पर बनी फिल्म वन्स अपॉन ए टाइम इन मुंबई के बाद कई और फिल्में बन रही हैं, जिनमें असल जिन्दगी के किरदारों को पर्दे पर उतारा गया है.

हालांकि ऐसी फिल्मों के साथ विवाद भी हमेशा जुड़ा रहता है. अजय देवगन और इमरान हाशमी की फिल्म पहले ही विवादों में आ गई है. हाजी मस्तान के एक दत्तक बेटे ने इस फिल्म को देखे बिना ही इस पर रोक लगवाने की कोशिश की. सुंदर शेखर का कहना है, "फिल्म बनाने वाले हाजी मस्तान को गैंगस्टर बता रहे हैं. यह मानहानि का मामला है. हाजी मस्तान समाजसेवी थे और कई परिवार उन्हें गॉडफादर के तौर पर देखती हैं."

Indien Film Regisseur Ram Gopal Verm Bollywood

रामू भी उतारेंगे एक रीयल लाइफ किरदार को पर्दे पर

बॉम्बे हाई कोर्ट ने शेखर की अपील खारिज कर दी. लेकिन साथ ही फिल्म निर्माताओं को यह भी ताकीद की कि वह फिल्म के साथ यह बयान लगाएं कि, "यह पूरी तरह से काल्पनिक कहानी है और फिल्म के चरित्र भी काल्पनिक हैं."

फिल्म निर्देशक मिलान लुथरिया का कहना है कि ऐसे किरदारों पर फिल्म बनाना बड़ी जिम्मेदारी का काम होता है. उनका कहना है, "एक व्यक्ति की पूरी शख्सियत आप पर निर्भर करती है. आप इसे जैसे चाहें, तोड़ मरोड़ भी सकते हैं."

फिल्म बना रही यूटीवी का भी मानना है कि ऐसी फिल्में बड़ी जोखिम भरी होती हैं. इसके क्रिएटिव ऑफिसर विकास बहल का कहना है, "आपको यह भी पक्का करना होता है कि आपने इसके लिए बहुत रिसर्च किया है क्योंकि कोई भी गलती बड़ी आसानी से पकड़ में आ जाती है."

लेकिन इन जोखिमों के बाद भी बॉलीवुड ने देश के कुछ बड़े नामों पर फिल्म बनाने की ठान ली है. भारत के सबसे कामयाब एथलीटों में गिने जाने वाले मिल्खा सिंह की जिन्दगी पर फिल्म बन रही है, भाग मिल्खा भाग. फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर रहे मिल्खा सिंह ने अपने जमाने में शानदार दौड़ें लगाई थीं लेकिन वह दुर्भाग्यशाली रहे कि रोम ओलंपिक में उन्हें मेडल नहीं मिल पाया. फिल्म बना रहे राकेश मेहरा का कहना है, "मिल्खा सिंह की कहानी बहुत प्रभावित करने वाली है. मैं आज के युवाओं को इस फिल्म के जरिए वह कहानी कहना चाहता हूं."

इरफान खान अभिनीत फिल्म पान सिंह तोमर भी बन रही है, जिसमें एथलीट से गैंगस्टर बने एक किरदार की कहानी है. मशहूर फिल्मकार रामगोपाल वर्मा परितला रवि पर फिल्म बना रहे हैं. आंध्र प्रदेश के चर्चित नेता रवि की 2005 में हत्या कर दी गई थी.

इनके अलावा कुछ और बड़ी शख्सियतों पर भी बॉलीवुड किस्मत आजमाने को तैयार है. बेहतरीन गायक और नाकाम अभिनेता किशोर कुमार और भारत के सबसे प्रतिभावान फिल्म निर्देशक समझे जाने वाले गुरुदत्त पर भी फिल्में बन रही हैं.

भारतीय और पश्चिमी पेंटिंग को साथ लेकर चलने वाले 19वीं सदी के मशहूर पेंटर राजा रवि वर्मा पर भी फिल्म बन रही है. जबकि भारत के स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह, मंगल पांडे, महात्मा गांधी और सरदार वल्लभ भाई पटेल पर पहले ही फिल्में बन चुकी हैं. हालांकि इनमें से ज्यादातर बॉक्स ऑफिस पर नाकाम रही हैं.

रिपोर्टः एएफपी/ए जमाल

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links