1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

अलोंसो की जीत, वेबर सबसे आगे

स्पेन के फर्राटा रेसर फर्नांडो अलोंसो ने इतालवी ग्रां प्री जीत ली है. रोमांच से भरे इस रेस में अब तक सीजन के लीडर लुइस हेमिलटन पहले ही राउंड में टकरा कर आउट हो गए और मार्क वेबर एक बार फिर सीजन के चैंपियन बन बैठे.

default

अलोंसो ने पोल पोजीशन से शुरुआत की लेकिन जेनसन बटन ने बेहतरीन कार चलाते हुए उन्हें पार कर लिया. इस बीच इस सीजन में सबसे ज्यादा अंक बटोरने वाले ब्रिटेन के मैकलेरेन ड्राइवर हेमिलटन की गाड़ी ब्राजील के फिलिपे मासा से टकरा चुकी थी. मासा तो रेस में बने रहे लेकिन हेमिलटन की कार को नुकसान पहुंचा और उन्हें पहले लैप में ही रेस से बाहर होना पड़ा.

Großer Preis von Italien GP Monza 2010

बाकी की रेस पूरी रफ्तार से चलती रही और 36वें लैप के बाद दोनों ड्राइवरों ने पहिए बदलने के लिए कार रोकी. लगभग एक साथ रोकी गई कार में अलोंसो को फायदा पहुंचा. उनका कहना है कि मैकेनिकों ने जिस तेजी से कार के पहिए बदले, वे तो कार को तब तक पहले गीयर में ला भी नहीं पाए थे. पिट स्टॉप से निकलने के बाद ओलोंजो की कार फर्राटा भरने लगी और बटन को उनसे लगभग एक सेकंड का ज्यादा वक्त लगा. यह एक सेकंड बहुत महंगा पड़ा और आखिर तक बटन फिर पीछे ही रहे.

अलोंसो के चेक प्वाइंट पार करने के मुश्किल से क्षण भर बाद बटन ने भी रेस पूरी की लेकिन पोडियम पर उन्हें दूसरा स्थान ही मिला. ओलोंजो की ही तरह फरारी चलाने वाले ब्राजील के फिलिपे मासा तीसरे नंबर पर रहे, जबकि जर्मनी के सेबेस्टियन फेटेल चौथे नंबर पर.

लेकिन इस रेस का सबसे ज्यादा फायदा मिला छठे नंबर पर रहने वाले रेड बुल के ऑस्ट्रेलियाई ड्राइवर मार्क वेबर को. वेबर ने रेस पूरी की और इस सीजन में अब उनके पास 187 अंक हो गए हैं. इटली के मोंजा ग्रां प्री से पहले तक 182 अंकों वाले हेमिलटन से पीछे चल रहे वेबर को आज कामयाबी मिल गई क्योंकि हेमिलटन को अंक नहीं मिल पाए. मोंजा चैंपियन अलोंसो के पास 166 अंक हैं. वह तीसरे नंबर पर हैं, जबकि पिछले साल के चैंपियन जेनसन बटन उनसे सिर्फ एक अंक पीछे हैं. जर्मन ड्राइवर फेटल 163 अंकों के साथ पांचवें नंबर पर हैं.

इस सीजन में अभी पांच रेस बचे हैं और अंक तालिका बता रही है कि चैंपियन पक्का नहीं है. अगली रेस सिंगापुर में 26 सितंबर को होगी.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एन रंजन