1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अर्जुन मुंडा बनेंगे झारखंड के मुख्यमंत्री

झारखंड में तीन हफ्तों की राजनीतिक उठा पटक खत्म करते हुए जेएमएम और बीजेपी में आज समझौता हो गया. इसके तहत दोनों पार्टियां बारी बारी से राज्य में सत्ता संभालेंगी और बीजेपी के अर्जुन मुंडा के लिए शिबू सोरेन गद्दी छोड़ेंगे.

default

पिछले दिनों बीजेपी के समर्थन वापसी के बाद से झारखंड में सियासी समीकरण बिगड़ गया था. लेकिन झारखंड मुक्ति मोर्चा और बीजेपी एक बार फिर साथ आ गए हैं और बीजेपी पहले अपना मुख्यमंत्री बनाएगी.

मुंडा और जेएमएम प्रमुख शिबू सोरेन ने एक साझा प्रेस कांफ्रेंस की. इसके बाद झारखंड के मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा, "हमने फैसला किया है कि बीजेपी और जेएमएम बारी बारी से 28-28 महीने सत्ता में रहेगी. पहले चरण में बीजेपी के नेतृत्व में सरकार बनेगी."

यह पूछे जाने पर कि वह मुख्यमंत्री पद कब छोड़ेंगे, सोरेन ने कोई तारीख नहीं बताई. सिर्फ इतना कहा, "बहुत जल्द." हालांकि बीजेपी और आजसू (ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन) नेताओं का कहना है कि यह काम 25 मई को कर लिया जाएगा.

Shibu Soren Vorsitzender der Jharkhand Mukti Morcha

मान गए गुरुजी

जेएमएम ने संसद में 28 अप्रैल को बीजेपी के कटौती प्रस्ताव के खिलाफ वोटिंग कर दी थी. इसके बाद बीजेपी ने झारखंड सरकार से समर्थन वापस लेने का एलान कर दिया था. लेकिन बाद में जेएमएम प्रमुख शिबू सोरेन के बेटे हेमंत सोरेन ने बीजेपी को अपना मुख्यमंत्री बनाने का न्योता दिया और सत्ता के लिए दोनों पार्टियों में एक बार फिर से सुलह हो गई.

आठ मई को बीजेपी ने एलान किया कि वह बचे हुए कार्यकाल में अपना मुख्यमंत्री बनाएगी. लेकिन उसी शाम सोरेन ने कह दिया कि सरकार बारी बारी से बनेगी. झारखंड के 82 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी और जेएमएम के 18-18 सदस्य हैं. गठबंधन में जेडीयू और आजसू पार्टियां भी शामिल हैं.

बीजेपी के अंदर मुख्यमंत्री पद को लेकर चर्चा थी. मुंडा के अलावा वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा भी रेस में बताए जा रहे थे. लेकिन आखिरकार बीजेपी ने दो बार मुख्यमंत्री रह चुके मुंडा के नाम पर मुहर लगाई.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः ओ सिंह