1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अयोध्या में श्रद्धालुओं की संख्या घटी

अयोध्या में रामजन्म भूमि बाबरी मस्जिद विवाद पर हाई कोर्ट के फैसले से पहले शहर में किलेबंदी जैसे सुरक्षा बंदोबस्त के बीच तीर्थयात्रियों की संख्या लगातार घट रही है.

default

हर तरफ सुरक्षा बलों का जमावड़ा

गुरुवार को आने वाले इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले के पहले शहर को सुरक्षा बलों ने पूरी तरह कब्जे में ले लिया है. छह दशक से चले आ रहे विवाद में अदालती फैसले के बाद सांप्रादायिक टकराव की आशंका को रोकने के लिए पुलिस ने कड़े सुरक्षा प्रबंध किए हैं. लेकिन फैसले से पहले आम तौर पर भीड़ भाड़ वाले विवादित भूमि पर बने अस्थायी मंदिर में सन्नाटा जैसा है.

राम जन्मभूमि मंदिर के मुख्य पुजारी महंथ आचार्य सत्येंद्र दास कहते हैं, "श्रद्धालुओं की संख्या पिछले कुछ दिनों में निश्चित तौर पर करीब 60 फीसदी कम हो गई है." मंदिर सूत्रों का कहना है कि अगस्त में रामलला मंदिर में 12 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की जबकि सितंबर में यह संख्या 1 से डेढ़ लाख ही रही.

आचार्य सत्येंद्र दास कहते हैं, "आम तौर पर 7 से 8 हज़ार श्रद्धालु हर दिन मंदिर आते हैं. त्यौहार के दिनों यह संख्या 15 हजार तक पहुंच जाती है." उनका कहना है कि पिछले सप्ताह इलाहाबाद हाई कोर्ट द्वारा फैसले की तारीख तय किए जाने के बाद शहर में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में भारी गिरावट आई है. मंदिर सूत्रों का सहना है कि 25 सितंबर को सिर्फ 2,700 लोगों ने मंदिर में पूजा अर्चना की. इनमें अयोध्या में तैनात सुरक्षाकर्मी भी शामिल थे.

रिपोर्ट: पीटीआई/महेश झा

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री