1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

अयोध्या केस सुप्रीम कोर्ट में जाएगाः आडवाणी

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का मानना है कि अयोध्या के मसले पर चाहे जो भी फैसला आए, मामला सुप्रीम कोर्ट में जाएगा. हाईकोर्ट में अहम फैसले से पहले अयोध्या का दौरा करने आए आडवाणी ने पत्रकारों से ये बात कही.

default

आडवाणी का मानना है कि हाईकोर्ट का फैसला किसी के हक में आए केस सुप्रीम कोर्ट तक जरूर पहुंचेगा. आडवाणी ने कहा, "मैंने अपनी पार्टी के सांसदों से संसदीय दल की बैठक में गुजारिश की है कि पहले से वो कोई अनुमान न लगाएं. कोर्ट का फैसला आने के बाद ही हम तय करेंगे कि हमें क्या करना है."

1990 में लालकृष्ण आडवाणी ने ही सोमनाथ से अयोध्या तक की रथयात्रा निकाली थी जिससे पूरे देश में अयोध्या को लेकर एक लहर पैदा हुई. इसने ना सिर्फ देश की राजनीति में अयोध्या को एक बड़ा मुद्दा बना दिया बल्कि बीजेपी को राष्ट्रीय स्तर पर एक मजबूत ताकत बनने का भी अवसर दे दिया. हालांकि रथयात्रा के बिहार पहुंचने पर तब के मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने आडवाणी को गिरफ्तार करवा दिया और रथयात्रा रुक गई. इस एक कदम ने लालू यादव को भी अपनी राजनीतिक जमीन मजबूत करने में बड़ी मदद पहुंचाई.

Indien Ayodhya Moschee Flash-Galerie Kultureller Wiederaufbau

24 सितंबर को आएगा फैसला

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस मामले पर फैसला सुनाने के लिए 24 सितंबर का दिन तय किया है. केंद्र सरकार ने सभी पक्षों से फैसले के बाद संयम बरतने और शांति बनाए रखने की अपील की है.

इस बीच प्रमुख विपक्षी पार्टियों और धार्मिक संगठनों ने लोगों से एक बार फिर शांत रहने की अपील की है. जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने भी लोगों से शांति की अपील की और कहा कि इस फैसले से सबकुछ तय नहीं हो जाएगा, समझौते के लिए आगे की राह खुली हुई है. उधर जेडीयू, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग और दूसरी राजनीतिक पार्टियों ने भी लोगों से शांत रह कर कोर्ट के फैसले का सम्मान करने को कहा है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links