1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिकी सैन्य स्कूल में यौन अपराध

सैन्य स्कूलों के छात्रों के साथ यौन शोषण की शिकायतें अमेरिका में इस साल एक चौथाई बढ़ गई हैं. रक्षा मंत्री लियोन पैनेटा ने इसे स्थायी समस्या बताते हुए निपटने के लिए "तुरंत और मजबूत उपाय" की जरूरत बताई.

साल 2011-12 के सत्र में 80 कैडेटों ने यौन शोषण की शिकायत की, जबकि पिछले साल 65 शिकायतें मिली थीं. अमेरिका रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को सैन्य स्कूलों में यौन दुर्व्यवहार और हिंसा की अपनी सालना रिपोर्ट में यह जानकारी दी है. पीड़ितों में चार पुरुष छोड़ कर सब महिलाएं हैं.

यह लगातार तीसरा साल है जब यौन शोषण के मामलों में इजाफा हुआ है. 2009 में कुल 25 मामले दर्ज किए गए. रिपोर्ट के मुताबिक 2006 में 42 शिकायतें दर्ज हुईं और फिर ऐसी घटनाओं में कमी आ रही थी लेकिन 2009 के बाद से इनमें फिर बढ़ोत्तरी शुरू हो गई. अमेरिका नौसेना, थल सेना और वायु सेना को भेजे अपने मेमो में रक्षा मंत्री पैनेटा ने कहा, "हमारी मौजूदा कोशिशों के बावजूद इस साल की रिपोर्ट बताती रही है कि हमारे पास यह समस्या स्थायी है."

उन्होंने कहा कि रक्षा सेवाओं को नए तरीके ढूंढने के लिए कहा गया है जिससे सैन्य स्कूलों में सम्मान और गरिमा का माहौल बनाया जा सके. उन्होंने मार्च के आखिर तक रिपोर्ट मांगी है.

नई जानकारियों ने कानून बनाने वालों और मामले पर नजर रख रहे सामाजिक संगठनों को चिंता में डाला है. सांसद निकी सोंगास का कहना है कि ज्यादा घटनाओं के सामने आने का मतलब है कि लोग सामने आकर शिकायत कर रहे हैं लेकिन इसके साथ ही यह भी सच है कि समस्या बनी हुई है. उन्होंने बयान जारी किया, "यौन हमले पूरी सेना के लिए स्थायी और काबू में न आने वाली समस्या है."

प्रोटेक्ट आवर डिफेंडर्स नाम की संस्था की प्रमुख नैन्सी पारिश का कहना है, "सेना के रैंकों में बलात्कार और यौन हमलावरों के लिए उच्च सहनशीलता की संस्कृति बन गई है. साफ है कि बीते सालों में लागू किए गए सुधारों से कोई फर्क नहीं पड़ा है."

Fragezeichen Fragen über Fragen

यही है वह 'सवाल का निशान' जिसे आप तलाश रहे हैं. इसकी तारीख 28.29.30/12 और कोड 5461 हमें भेज दीजिए ईमेल के ज़रिए hindi@dw.de पर या फिर एसएमएस करें +91 9967354007 पर.

मिलिट्री स्कूलों में यौन हमलों को रोकने के लिए कार्यक्रम लागू किए जा रहे हैं. इसके साथ ही ऐसा वातावरण बनाने की भी कोशिश हो रही है कि इनकी शिकायत दर्ज कराई जाए. इसमें गोपनीय तरीके से पीड़ित को सेवा और सलाह देने के साथ ही बिना रोकटोक के पक्के तौर पर आपराधिक जांच की मंजूरी का विकल्प भी शामिल है. साल 2012 के 80 में से 42 मामले में पीड़ित की सहायता से बिना रोक टोक के पूरी आपराधिक जांच की मंजूरी मिली. अधिकारियों के मुताबिक 38 मामले गोपनीय रहे और उनकी जांच नहीं की गई.

अमेरिकी रक्षा विभाग हर दो साल पर छात्रों का सर्वे कर स्कूलो में लड़के लड़कियों के बीच संबंधों की जानकारी जुटाता है जिससे शिकायत दर्ज न होने वाले मामलों के बारे में बेहतर तरीके से जाना जा सके. इस बार का सर्वे बता रहा है कि शिकायत दर्ज कराने वाले लोगों के औसत में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है. 2010 के सर्वे में 56 फीसदी महिलाओं ने यौन दुर्व्यवहार की शिकायत की जबकि इस साल के सर्वे में यह आंकड़ा 51 फीसदी है. पुरुषों के लिए यह आंकड़ा पहले की तरह 10 फीसदी पर बना हुआ है.

एनआर/एजेए (रॉयटर्स)

DW.COM

WWW-Links