1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिकी सीनेट में वित्तीय सुधार विधेयक पास

वित्तीय संकट में बैंकों की भूमिका पर राष्ट्रीय आक्रोश के बीच अमेरिकी सीनेट ने 1930 के दशक के बाद सबसे व्यापक वित्तीय सुधारों के लिए हरी झंडी दिखा दी है. यह घरेलू मोर्चे पर राष्ट्रपति बराक ओबामा की महत्वपूर्ण सफलता है.

default

ओबामा प्रशासन के वित्तीय सुधार बिल को सीनेट ने 39 के मुक़ाबले 59 मतों से पास कर दिया. अब यह बिल प्रतिनिधि सभा में जाएगा जहां उसे प्रतिनिधि सभा द्वारा गत दिसम्बर में पास बिल के साथ मिलाया जाएगा. उम्मीद की जा रही है कि प्रतिनिधि सभा में यह बिल अगले महीने तक पास हो जाएगा ताकि 4 जुलाई को होने वाले राष्ट्रीय दिवस से पहले राष्ट्रपति उस पर हस्ताक्षर कर सकें.

इस बिल में कर्ज़ लेने और देने के नियमों को कड़ा किया जा रहा है. इसे दो साल पहले अमेरिका को वित्तीय संकट में ढकेलने वाले सबप्राइम संकट की वजह माना जा रहा है. नए सुधारों के तहत वित्तीय बाज़ार में जोखिम भरी सट्टेबाज़ी पर कड़ा नियंत्रण किया जाएगा ताकि 2008 जैसे वित्तीय संकट को रोका जा सके. इसके अलावा बड़े बैंकों को बंद करने को आसान बनाया जाएगा तथा उपभोक्ता सुरक्षा एजेंसी का गठन किया जाएगा.

USA Finanzkrise New York Börse Wall Street Straßenschild

सीनेट का 59-39 वोट राष्ट्रपति ओबामा के लिए स्वास्थ्य बीमा सुधारों के लागू होने के दो महीने के अंदर मिली महत्वपूर्ण उपलब्धि है. हालांकि इस बिल के लिए चार रिपब्लिकन सीनेटरों ने मत दिया तो दो डेमोक्रैटिक सीनेटरों ने बिल के ख़िलाफ़ मतदान किया, लेकिन इससे पहले सीनेट में डेमोक्रैटिक दल को विपक्षी रिपब्लिकन पार्टी की बाधा को तोड़ने और मतदान करवाने में सफलता मिली.

संसदीय नियमावली संबंधी बाधाओं के दूर होने के बाद ओबामा ने कहा कि वित्त उद्योग लॉबी करने वालों की सेना और लाखों डॉलर के विज्ञापन अभियान के बावजूद बिल पर मतदान रोकने या उसे कमज़ोर बनाने में विफल रहा है. बिल के पास होने के बाद विरोध कर रहे रिपब्लिकन सीनेटर रिचर्ड शेलबी ने कहा, "हमारा फ़ैसला अगले दशकों में अमेरिकियों के जीवन को प्रभावित करेगा."

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री