1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

अमेरिकी राहतों से क्यूबा खुश नहीं

अमेरिका ने क्यूबा के प्रति नियमों को कुछ आसान बनाया है, लेकिन क्यूबा अमेरिका के ताजा फैसले से खुश नहीं है, क्योंकि क्यूबा पर बरसों से चल रहे आर्थिक प्रतिबंध जारी रहेंगे और उसके व्यापार को कोई फायदा नहीं होगा.

default

क्यूबा, अमेरिका के उस कदम से खुश नहीं है, जिसमें उसने क्यूबा यात्रा और अमेरिका से क्यूबा धन भेजने संबंधित नियमों को आसान बनाया है. क्यूबा के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यद्यपि यह सकारात्मक कदम है, लेकिन इसका क्षेत्र विस्तृत नहीं है और इससे यह भी जाहिर नहीं होता कि क्यूबा के प्रति अमेरिकी नीतियों में बदलाव आए हैं. वास्तव में ये बदलाव बहुत सीमित हैं.

पिछले सप्ताह अमेरिका ने क्यूबा पर वीजा, यात्रा और प्रेषण संबंधित नियमों में कुछ राहत देने की घोषणा की थी, जो दो सप्ताह में लागू होगी. व्हाइट हाऊस से जारी एक बयान में कहा गया कि नियमों का यह बदलाव कम्यूनिस्ट ताकतों को कमजोर बनाएगा.

क्या हैं बदलाव

अमेरिका द्वारा नियमों को आसान बनाने के बाद क्यूबा से अमेरिका के बीच धार्मिक और शैक्षणिक यात्राएं आसान हो सकेंगी और साथ ही अमेरिका के किसी भी एयरपोर्ट से क्यूबा के लिए चार्टर सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी. इसके अलावा क्यूबा में परिवार से दूर रहने वाले लोग प्रतिवर्ष अपने परिवार को दो हजार यूरो तक की राशि भेज सकते हैं. हालांकि ये नियम कुछ निश्चित श्रेणी वाले अमेरिकी नागरिकों के लिए ही हैं.

प्रतिबंधों का इतिहास

अमेरिका ने क्यूबा पर फिदेल कास्त्रो की क्रांति के बाद 1960 से आर्थिक प्रतिबंध लगा रखे हैं, लेकिन सन 2000 में अमेरिका में पारित विधेयक के अनुसार अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के पास क्यूबा यात्रा संबंधित नियमों को विनियमित करने के अधिकार हैं.

ओबामा ने 2009 में अपने इन अधिकारों का प्रयोग किया और नियमों को आसान बनाते हुए तत्काल पारिवारिक यात्रा को संभव बनाया. साथ ही अमेरिका में रह रहे क्यूबाई मूल के लोगों के लिए क्यूबा में धन भेजना सुलभ करवाया. हालांकि ओबामा प्रशासन तब तक क्यूबा पर से आर्थिक प्रतिबंध नहीं हटा सकता, जब तक कि अमेरिकी कांग्रेस इस पर सहमत न हो जाए.

रिपोर्टः एजेंसियांएस खान

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links