1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से मिलने वॉशिंगटन पहुंचे मोदी

राष्ट्रपति बनने के बाद ट्रंप की मोदी से यह पहली मुलाकात होगी. व्हाइट हाउस में मोदी और ट्रंप की मुलाकात में दोनों राष्ट्रों के बीच रक्षा सहयोग और आतंकवाद से लड़ने के मुद्दे प्रमुखता से शामिल होंगे.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप से मुलाकात करने वॉशिंगटन पहुंचे हैं. डॉनल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद से उनकी भारतीय प्रधानमंत्री मोदी से यह पहली मुलाकात होगी. व्हाइट हाउस में मोदी और ट्रंप दोनों राष्ट्रों के बीच मुख्य रूप से रक्षा सहयोग के मुद्दे पर बातचीत होगी. एक अमेरिकी अधिकारी ने इस वार्ता से पहले बताया है कि भारत से रक्षा सहयोग में अमेरिका की दिलचस्पी है. उन्होंने कहा कि अमेरिका को यकीन है कि एक मजबूत भारत अमेरिका के लिए भी अच्छा होगा. 

व्हाइट हाउस ने रक्षा सौदे पर किसी भी तरह की जानकारी नहीं दी है. लेकिन, कुछ समाचार एजेंसियों ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि ट्रंप के भारत को हवाई निगरानी करने वाले 22 गार्डियन ड्रोन बेचने का एलान करना संभव है. ये सौदा दो अरब डॉलर का है. भारत के नजरिये से यह एक बड़ी उपलब्धि होगी क्योंकि वो 2015 से ही इसकी मांग करता रहा है. अगर ऐसा हुआ तो भारत ऐसा पहला देश होगा जिसे औपचारिक रूप से अमेरिका का रणनीतिक साझेदार न होने के बावजूद अमेरिका से ऐसे ड्रोन बेचे जाएंगे.

आतंकवाद, आर्थिक मुद्दे, व्यापार और भारत-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा सहयोग भी इनकी बातचीत के मुख्य अजेंडे में होंगे. दोनों नेता आतंकवाद के खिलाफ सहयोग जैसे मुद्दों पर भी बात करेंगे. अमेरिका का जोर भारत में सक्रिय अमेरिकी कंपनियों के लिए बौद्धिक संपदा अधिकार और कम टैरिफ पाने पर होगा.

पीएम मोदी का राष्ट्रपति ट्रंप के साथ व्हाइट हाउस में डिनर करने का कार्यक्रम है. डॉनल्ड ट्रंप के साथ व्हाइट हाउस में डिनर करने वाले मोदी दुनिया के पहले नेता होंगे.

एसएस/आरपी (डीपीए)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री