1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिकी राजनयिक को तुरंत रिहा करे पाकः अमेरिका

अमेरिका ने पाकिस्तान सरकार से मांग की है कि वो उसके गिरफ्तार राजनयिक को तुरंत रिहा कर दे. पाकिस्तानी अधिकारियों ने इस राजनयिक को तब गिरफ्तार किया जब उसने लाहौर में दो हथियारबंद युवको को गोली मार दी.

default

इस्लामाबाद में अमेरिकी मिशन की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, "अमेरिकी दूतावास ने पाकिस्तान से कहा है कि वो लाहौर में गैरकानूनी तरीके से गिरफ्त में लिए गए अमेरिकी राजनयिक को तुरंत रिहा करे." बयान में ये भी कहा गया है कि राजनयिक को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजना अंतरराष्ट्रीय कानून और वियना कन्वेंशन के खिलाफ है.

अमेरिका राजनयिक रेमंड डेविस का कहना है कि गुरुवार को दो युवकों ने उसे लाहौर के भीड़भाड़ वाले इलाके में लूटने की कोशिश की. आत्मरक्षा में उसने इन दोनों को गोली मार दी. गोली लगने से दोनों युवकों की मौत हो गई. एक तीसरे पाकिस्तानी नागरिक की मौत तब हो गई जब वो अमेरिकी लोगों की मदद करने की कोशिश में अमेरिकी कॉन्सुलेट की गाड़ी से जा टकराया. पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा है कि डेविस को हत्या के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है और उस पर स्थानीय कानून के हिसाब से आरोप लगाए गए हैं.

डेविस को राजदूत बताया गया

इससे पहले जारी अमेरिकी बयान में इस अधिकारी को अमेरिकी वाणिज्यिक दूतावास का अधिकारी बताया गया लेकिन शनिवार को जारी बयान में डेविस को राजदूत बताया गया है जिसकी नियुक्ती इस्लामाबाद के अमेरिकी मिशन में की गई है. बयान में कहा गया है, "डेविस के पास अमेरिकी राजनयिक पासपोर्ट और पाकिस्तान का जून 2012 तक के लिए वैध वीजा है."

मिशन से जारी बयान में कहा गया है कि दो हथियारबंद मोटरसाइकिल सवारों के साथ झड़प होने पर अमेरिकी अधिकारी ने आत्मरक्षा में कार्रवाई की. इस बयान के मुताबिक, " अमेरिका राजनयिक के पास ये मानने के पर्याप्त कारण हैं कि मोटरसाइकिल सवार युवक उसे नुकसान पहुंचाना चाहते थे. कुछ ही मिनट पहले उसी इलाके में आपराधिक पृष्ठभूमि वाले दो लोगों ने बंदूक की नोक पर एक पाकिस्तानी नागरिक से पैसे और दूसरी कीमती चीजें लूट ली."

अमेरिकी मिशन के मुताबिक गिरफ्त में लिए जाने के बाद अमेरिकी अधिकारी ने पुलिस को अपनी पहचान बताई और वियना कन्वेंशन के आधार पर राजनयिक अधिकार का हवाला दिया. बयान में कहा गया है," स्थानीय अधिकारी इस राजनयिक की पहचान की पुष्टि कराने की अपनी जिम्मेदारी निभाने में नाकाम रहे. इसके बाद डेविस को औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर रिमांड पर भेज दिया गया. ये वियना कन्वेंशन का उल्लंघन है जिस पर पाकिस्तान ने भी दस्तखत किए हैं. "

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ईशा भाटिया

DW.COM

WWW-Links