1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिकी जहाज के चालक दल गिरफ्तार

भारत की पुलिस ने शु्क्रवार को अमेरिकी एंटी पाइरेसी फर्म के जहाज पर सवार 35 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया. इन्हें जहाज बिना परमिट के हथियारों के साथ भारतीय जल सीमा में घूमने पर पकड़ा गया.

भारतीय तटरक्षक बल ने बताया कि जहाज से बड़ी मात्रा में हथियार मिलने के बाद इसे हिरासत में लेकर शनिवार को टूटीकोरिन के पोर्ट पर लाया गया है. पुलिस ने जहाज के चालक दल के 10 सदस्यों और 25 सुरक्षा गार्डों की जांच शुरू कर दी है. यह गार्ड सीमैन गार्ड ओहायो नाम की एजेंसी के हैं, जो सिएरा लियोन में रजिस्टर है और अमेरिका की समुद्री सुरक्षा कंपनी एडवानफोर्ट के लिए काम कर रहे हैं.

हिरासत में लिए 35 लोगों में ब्रिटिश, एस्तोनियाई, यूक्रेनी और भारतीय नागरिक भी हैं. इनके पास से 30 असॉल्ट राइफल और करीब 4000 से ज्यादा कारतूस बरामद किए गए हैं. हिरासत में लिए 33 लोगों को पूछताछ के लिए स्थानीय पुलिस थाने में लाया गया है. बाकी के दो लोग अभी जहाज पर ही हैं. चालक दल के पास हथियारों की सूची भी नहीं रखी थी. पिछले साल फरवरी में दो इतालवी नौसैनिकों की गोली से दो भारतीय मछुआरों की मौत हो गई थी और तब काफी बवाल मचा था.

भारत का दक्षिणी छोर एशिया और यूरोप के प्रमुख कारोबारी रूट के काफी करीब है और कुछ मालवाहक जहाज लुटेरों से बचने के लिए अपने साथ हथियारबंद सुरक्षा गार्ड लेकर चलते हैं. एडवानफोर्ट का कहना है कि उसके गार्ड नियमित रूप से मालवाहक जहाजों को "लुटेरों से हथियारबंद बचाव" मुहैया कराते हैं और इसीलिए उनके हथियार और गोला बारूद सीमैन गार्ड ओहायो पर रखे थे. कंपनी का कहना है कि सारे हथियार "उचित रूप से दर्ज हैं और इनका लाइसेंस एडवानफोर्ट के पास हैं."

एडवानफोर्ट के अध्यक्ष विलियम वाटसन ने जहाज को पकड़े जाने की खबर से इनकार किया है. इसकी बजाय उन्होंने भारतीय तटरक्षक बल और पुलिस को धन्यवाद दिया है. उनके मुताबिक जहाज में ईँधन भरा गया और उसे तूफान में फंसने से बचाया भी. वाटसन ने बयान जारी कर कहा है, "मैं निजी तौर पर भारत की सरकार को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने तूफान के वक्त में हमारे मालवाहक जहाज ओहायो और चालक दल को सुरक्षित पनाह दी. हम जरूरी औपचारिकताओं के बाद जितनी जल्दी हो सके जहाज के वापस काम पर लौटने के इंतजार में हैं."

भारत के उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नेचल संधू ने गुरुवार को कहा कि अगर यह निश्चित हो गया कि जहाज भारतीय जल सीमा के बाहर था तो पुलिस की जांच बंद कर दी जाएगी. उन्होंने कहा, "आपको यह समझना होगा कि हमारी जल सीमा 12 नॉटिकल मील तक है, उसके बाहर जो कुछ होता है वह हमारे नियंत्रण में नहीं.

एनआर/एएम (एएफपी)

संबंधित सामग्री