1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

अमेरिकी एयरपोर्ट पर एक और भारतीय दूत से बदसलूकी

अमेरिका में मिसीसीपी हवाई अड्डे पर भारतीय राजदूत मीरा शंकर की तलाशी लिए जाने का मामला ठंडा भी नहीं हुआ है कि एक और भारतीय राजनयिक की सुरक्षा जांच की बात सामने आई है. यूएन में भारतीय राजदूत से बदसलूकी हुई.

default

सुरक्षा बनी परेशानी का सबब

संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत हरदीप पुरी के साथ ह्यूस्टन एयपोर्ट पर हुई बदसलूकी. भारत ने इस घटना पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है.

हरदीप पुरी संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि हैं. सूत्रों ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि दो हफ्ते पहले ह्यूस्टन एयरपोर्ट पर अमेरिकी अधिकारियों ने सुरक्षा जांच के दौरान हरदीप पुरी से उनकी पगड़ी उतारने के लिए कहा. जब पुरी ने अपनी पगड़ी उतारने से मना कर दिया तो अधिकारी उन्हें एक कमरे में ले गए जहां उन्हें आधे घंटे तक इंतजार कराया गया. हरदीप पुरी के साथ यात्रा कर रहे ट्रांसपोर्टेशन सिक्योरिटी एडमिनिस्ट्रेशन के अधिकारी के हस्तक्षेप के बाद ही उन्हें जाने दिया गया. दिल्ली में सूत्रों के मुताबिक भारत ने ह्यूस्टन में अपने वाणिज्यिक दूतावास के जरिए आधिकारिक विरोध दर्ज करा दिया है.

अमेरिका में भारतीय राजनयिकों की तलाशी लिए जाने से उठे विवाद पर विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने कहा, "मैंने इस संबंध में अमेरिकी अधिकारियों से बात की है. अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने भी मुझे संकेत दिया है कि वह तलाशी प्रक्रिया पर पुनर्विचार कर सकती हैं. खासकर उन मामलों में जब तलाशी विदेशी राजनयिक के साथ हो रही हो."

इससे पहले 4 दिसंबर को अमेरिका में भारतीय राजदूत मीरा शंकर को एयरपोर्ट में सुरक्षा जांच के लिए खड़े लोगों की पंक्ति से अलग हटा कर तलाशी ली गई. मिसीसीपी एयरपोर्ट पर हाथ से तलाशी लिए जाने के दौरान मीरा शंकर ने बताया था कि वह भारतीय राजदूत हैं लेकिन सुरक्षा अधिकारियों ने कोई ढिलाई नहीं बरती. माना जा रहा है कि मीरा शंकर ने साड़ी पहनी हुई थी जिसके चलते ही तलाशी ली गई. मीरा शंकर की तलाशी के मामले में भारत ने अमेरिकी राजनयिक को बुलाकर अपना विरोध दर्ज कराया था.

वैसे यह पहली बार नहीं है जब भारत की बड़ी हस्तियों की अमेरिका में कड़ी तलाशी लिए जाने का मामला सामने आया है. सितंबर में नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल से शिकागो में इमिग्रेशन अधिकारियों ने पूछताछ की क्योंकि उनका नाम एक ऐसे व्यक्ति से मेल खा रहा था जो अमेरिका की वॉच लिस्ट में है. इस लिस्ट में उन लोगों के नाम हैं जिन पर आतंकी या गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त होने का संदेह है. अगस्त 2009 में बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान ने भी नेवार्क हवाई अड्डे पर कड़ी पूछताछ किए जाने का आरोप लगाया था. भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस भी कह चुके हैं कि 2002 और 2003 में अमेरिकी एयरपोर्ट पर उनके कपड़े उतरवाकर तलाशी ली गई.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

DW.COM